Women Entrepreneurship Loan Scheme महिला उद्यमी ऋण योजनायें

mahilaon ki yojana, mahila udyami yojana,Women Entrepreneurship Loan, mahila udyami loan yojana, Women Entrepreneurship Loan scheme,महिला ऋण योजना, महिला उद्यमी ऋण योजना, महिला उद्यमी योजना, Annapurna Yojana,Udyogini Scheme, Mahila Udyam Nidhi Scheme, Cent Kalyani Scheme,Oriental Mahila Vikas Yojana,Oriental Mahila Vikas Yojana,Dena Shakti Yojana, Priyadarshani Yojana,Mahila Udyami Mudra Yojana, business loan scheme, व्यापार ऋण योजना,

महिला उद्यमी ऋण योजना pics

Women Entrepreneurship Loan Scheme महिला उद्यमी ऋण योजना

केंद्र सरकार द्वारा महिलाओं को उद्यमिता के क्षेत्र में बढ़ावा देने के लिए कई योजनायें शुरू की गयी हैं। इन योजनाओं का लाभ उठाने के लिए बैंकों द्वारा भी महिलाओं के लिये विशेष ऋण योजनाये प्रारम्भ की गयी है। दरअसल स्टार्ट अप इंडिया के तहत उद्यमिता के क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी को बढ़ाने के लिए एवं महिला सशक्तिकरण के उद्देश्य से सरकार द्वारा यह कदम उठाया गया है। जिससे महिलाएं अपना कारोबार शुरू करके आत्मनिर्भर बन सकें। तो आइये जाने बैंकों की महिला उद्यमी ऋण योजना की जानकारी।

Udyogini Scheme  उद्योगिनी योजना 

इस योजना के तहत सूक्ष्म , खुदरा और कृषि क्षेत्र के व्यवसाय से जुड़ी महिलायें अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाने के लिए पंजाब और सिंध बैंक (PSB) से ऋण प्राप्त कर सकती हैं। योजना के तहत अधिकतम रु 1 लाख तक का ऋण प्राप्त किया जा सकता है। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए महिल की आयु 18-45 वर्ष के बीच होनी चाहिए और परिवार की वार्षिक आय रु 45 हज़ार से कम होनी चाहिए।

 Mahila Udyam Nidhi Scheme   महिला उद्यम निधि योजना   

पंजाब नेशनल बैंक द्वारा इस योजना के तहत अधिकतम रु 10 लाख तक का ऋण प्रदान किया जाता है। ऋण का लाभ छोटे स्तर के व्यवसाय जैसे – ब्यूटी पार्लर, बुटिक, डे केयर सेण्टर आदि व्यवसाय से जुड़ी महिलाए अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए प्राप्त कर सकती हैं। इस योजना के तहत लिए गए ऋण को दस वर्षों की अवधि में चुकाया जा सकता है।

 Cent Kalyani Scheme  सेंट कल्याणी योजना 

मैन्युफैक्चरिंग और सर्विस उद्योग के क्षेत्र से जुड़ी महिला उद्यमियों को इस योजना के तहत ऋण सेंट्रल बैंक ऑफ़ इंडिया द्वारा उपलब्ध करवाया जाता है। योजना के तहत मैन्युफैक्चरिंग उद्योग जैसे – गारमेंट मेकिंग, ब्यूटी पार्लर,हस्तशिल्प कला और सेवा व्यवसाय जैसे – स्वास्थ्य चिकित्सा केंद्र , शैक्षिक प्रशिक्षण केंद्र एवं स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं को सूक्ष्म और लघु स्तर के  व्यवसाय शुरू करने के लिए लोन प्रदान किया जाता है।

Oriental Mahila Vikas Yojana ओरिएण्टल महिला विकास योजना 

इस योजना के तहत ओरिएण्टल बैंक ऑफ़ कॉमर्स द्वारा व्यकतिगत या साझेदारी में महिलाओं को अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए ऋण प्रदान किया जाता है। योजना के तहत 2- 10 लाख रुपये तक के ऋण पर महिलाओं को 2% ब्याज की छूट का लाभ प्राप्त होता है। रु 10 लाख से अधिक का ऋण लेने पर 1% ब्याज की छूट मिलती है। यदि पार्टनरशिप बिजनेस में एक महिला और एक पुरुष मिलकर ऋण लेना चाहते हैं। तो महिला का बिजनेस में शेयर न्यूनतम 51 % होना आवश्यक है और ऋण अधिकतम सात वर्षों में चुकाना होगा।

Dena Shakti Yojana  देना शक्ति योजना 

देना बैंक की इस योजना के तहत सूक्ष्म, लघु स्तर के व्य्वापार को शुरू करने या अपग्रेड करने के लिए महिला उद्यमियों को ऋण प्रदान किया जाता है। योजना के तहत खुदरा व्यापार जैसे रिटेल शॉप ट्रेडिंग बिजनेस, एजुकेशनल ट्रेनिंग सेण्टर, कृषि के क्षेत्र आदि व्यापार को शुरू करने के लिए ऋण प्राप्त किया जा सकता है। ऋण की अधिकतम सीमा एवं ब्याज की दर व्यवसास की श्रेणी के आधार पर निर्धारित की जाती है। जैसे – शिक्षा और खुदरा व्यापार के लिए ऋण की अधिकतम सीमा रु 20 लाख है, और ब्याज की दर 0.25 % है।

 Priyadarshani Yojana  प्रियदर्शनी योजना 

बैंक ऑफ़ इंडिया की प्रियदर्शनी योजना के तहत माइक्रो, स्माल एंड मीडियम इंडस्ट्रीज के तहत व्यापार शुरू करने के लिए अधिकतम रु 2 लाख तक का ऋण प्राप्त किया जा सकता है। ऋण पर ब्याज की दर सामान्य ब्याज की दर से 1% कम होती है।

  Annapurna Yojana  अन्नपूर्ण योजना 

इस योजना के तहत फ़ूड कैटरिंग बिजनेस जैसे – टिफिन सर्विस, पैक्ड स्नैक्स का बिजनेस स्माल स्केल पर शुरू करने के महिलायें ऋण प्राप्त कर सकती हैं। योजना के तहत ऋण स्टेट बैंक ऑफ़ मैसूर से अधिकतम रु 50 हज़ार तक का ऋण  प्राप्त किया जा सकता है। ऋण को 36 महीने में चुकाना होता है। योजना के तहत एक महीने की किश्त फ्री होती है।

Mahila Udyami Mudra Yojana  महिला उद्यमी मुद्रा योजना   

केंद्र सरकार की इस योजना के तहत महिलाओं को स्वरोजगार जैसे – ब्यूटी  पार्लर, टेलरिंग शॉप, टिफ़िन सर्विस, बुटिक आदि व्यवसाय शुरू करने के लिए ऋण किसी भी बैंक से प्राप्त किया जा सकता है। ऋण के लिए किसी गारेंटर की आवश्यकता नहीं होती है। ऋण लेते वक्त  महिला उद्यमी को मुद्रा कार्ड  प्रदान किया जाता है। जो रूपये डेबिट कार्ड की तरह काम करता है। इस कार्ड के प्रयोग से ऋण की 10% तक की राशि खर्च की जा सकती है।

अधिक जानकारी के लिए विडियो देखिये For more information watch video below:

अन्य योजनायें पढ़िए हिंदी में :

पोस्ट ऑफिस की फ्रैंचाइज़ी योजना

सीईआईआर वेबपोर्टल चोरी / गुम मोबाइलों का पता लगाएगा

मोदी सरकार की मिशन एप्पल योजना

 

Leave a Reply