Uttar Pradesh Mukhbir yojana उत्तर प्रदेश मुखबीर योजना

UP Mukhbir Yojana,  Mukhbir Yojana ka Uddeshya, उ.प्र. मुखबीर योजना, मुखबीर योजना, UP Mukhbir Yojana Puraskar ki Prakriya, UP Mukhbir Yojana Working Process

mukhbir yojana pics

Uttar Pradesh Mukhbir yojana उत्तर प्रदेश मुखबीर योजना

देश में महिला – पुरुष लिंग अनुपात में असमानता को दूर करने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा मुखबीर योजना का संचालन किया गया है। इसके अतिरिक्त घरेलु हिंसा से महिलाओं की दशा सुधारने के लिए महिला हेल्पलाइन नंबर 181 को भी जारी किया गया है। योजना के संचालन का उद्देश्य महिला भ्रूण हत्या जैसे जघन्य अपराध से प्रदेश को मुक्त करना है। मुखबीर योजना के तहत प्रदेश में मुखबीर सक्रीय किये जायेंगे। ये मुखबीर अल्ट्रासाउंड सेंटर एवं भ्रूण जाँच संस्था में सक्रीय रहकर भ्रूण हत्या की सूचना से सम्बंधित समाचार एकत्रित करने का काम करेंगे। इसके बाद प्राप्त खबर को पुलिस या स्वास्थ्य विभाग को सूचित करने पर दोषियों को दंड एवं मुखबीर टीम को सरकार की और से पुरस्कृत किया जाएगा। प्रदेश में कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए महिलाओं द्वारा उड़ान नाम से जागरूकता रैली का संचालन किया गया। महिलाओं की समाजिक हिंसा से रक्षा के लिए रेस्क्यू वैन का संचालन प्रदेश के 64जिलों में किया गया है। जिसका हेल्पलाइन नंबर 181 है। ये वैन 24×7 महिलाओं की सहायता हेतु उपलब्ध रहेगी। आइये जाने मुखबीर योजना की जानकारी।

 Mukhbir Yojana ka Uddeshya  उ.प्र. मुखबीर योजना का उद्देश्य 

इस योजना का उद्देश्य प्रदेश में कन्या भ्रूण हत्या पर रोक लगाना है। जिससे स्त्री एवं पुरुष लिंगानुपात में समानता स्थापित किया जा सके योजना के तहत प्रदेश के नर्सिंग होम एवं अल्ट्रासाउंड सेंटर पर मुखबीर टीम को सक्रीय किया जाएगा। लिंग की पहचान के आधार पर गर्भपात कराने एवं करने वाले व्यक्ति एवं संस्था को दण्डित किया जाएगा। भ्रूण हत्या के प्रयोजन से गर्भपात की सूचना देने वाले मुखबीर टीम को 2 लाख रूपए मुखबिर योजना के तहत इनाम दिया जाएगा। मुखबीर ऑपरेशन को अंजाम देने के लिए एनजीओ की सहायता ली जायेगी।

UP Mukhbir Yojana Working Process  उ.प्र. मुखबीर योजना की कार्यप्रणाली

  • मुखबीर टीम की भूमिका के लिए राज्य अथवा केंद्र सरकार में कार्यरत कर्मचारीयों का चयन किया जाएगा।
  • मुखबीर टीम में गर्भवती महिला की भूमिका के लिए महिला को स्वास्थ विभाग को शपथ पत्र देना होगा।
  • मुखबीर ऑपरेशन में गर्भवती महिला एवं सहायक की भूमिका निभाने के लिए राज्य स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण चिकित्सा सचिव, पीसीपीएनडीटी के राज्य नोडल अधिकारी , जिलाधिकारी अथवा मुख्य चिकित्साधिकारी से संपर्क किया जा सकता है।
  • योजना के तहत प्रदेश के सभी जिलों के अल्ट्रासाउंड केन्द्रों एवं नर्सिंग होम पर मुखबीर सक्रीय किये जायेंगे।
  • ये मुखबीर लिंग की जाँच एवं भ्रूण हत्या की योजना की जानकारी प्रदेश की पुलिस अथवा स्वास्थ्य कार्यालय को देने का काम करेंगे।
  •  प्राप्त सूचनाओं की प्रमाणिकता हेतु एनजीओ की ओर से गर्भवती महिला के रूप में एक महिला और एक सहायक को उस स्थान पर भेजा जाएगा।
  • अल्ट्रासाउंड सेंटर या नसिंग होम में जैसे हीं भूर्ण हत्या हेतु इस टीम द्वारा रसायन लगे नोट का भुगतान किया जायेगा। इस प्रमाणिकता के आधार पर स्वास्थ विभाग की टीम गरफ्तार कर ली जायेगी।

UP Mukhbir Yojana Puraskar ki Prakriya   उ.प्र. मुखबीर योजना पुरस्कार की प्रक्रिया

मुखबीर योजना के अंतर्गत निर्धारित पुरस्कार की राशि की फंडिंग राष्ट्रिय स्वास्थ विभाग द्वारा किया जाएगा। योजना को अंजाम देने वाली टीम में पुरस्कार की राशि का वितरण मुखबीर की सूचना की प्रमाणिकता साबित होने पर हीं किया जाएगा। जिसमें मुखबीर को रूपए 60,000 , गर्भवती महिला को रूपए 60,000 एवं सहायक को रूपए 40,000 प्रदान की जायेगी। निर्धारित राशि का वितरण तीन किश्तों में किया जाएगा।

  • पहली किश्त मुखबीर की सूचना सही साबित होने पर टीम में वितरित की जायेगी।
  • दूसरी किश्त न्यायालय में हाजिरी के बाद प्रदान की जायेगी।
  • तीसरी किश्त दोषी को सजा होने पर प्रदान की जायेगी।

अन्य योजनायें पढ़िए हिंदी में :

राज्यों की अन्य पिछड़ी जाति सूचि में बदलाव

खाताधारकों/शेयरधारकों पर विजय बैंक और देना बैंक के विलय का प्रभाव

राष्ट्रीय जैव ईंधन निति 2018

 

Leave a Reply