Paramparagat Krishi Vikas Yojana (PKVY) परंपरागत कृषि विकास योजना

Pkvy,  Paramparagat krishi vikas yojana, परंपरागत कृषि विकास योजना, paramparagat krishi vikas yojana ka uddeshya, kendriya yojana, sarkari yojana, kisan yojana,jaivik krishi yojana,central govt yojana, govt scheme,state govt scheme,mukhyamantri yojana, pradhan mantri yojana,Jaivik kheti Portal

pkvy pics

Paramparagat Krishi Vikas Yojana (PKVY) परंपरागत कृषि विकास योजना

केंद्र सरकार द्वारा जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए परम्परागत कृषि विकास योजना शुरू की गयी है। इस योजना का संचालन वर्ष 2015 में किया गया है। योजना को शुरू करने का उद्देश्य पारंपरिक ज्ञान और आधुनिक तकनीक के मिश्रण से जैविक कृषि के मॉडल को विकसित करना है। जिससे मिटटी की उर्वरा शक्ति लम्बे समय तक बनी रहे। इसके अतिरिक्त रसायनिक खाद्य एवं कीटनाशक दवाओं के स्थान पर जैविक खाद्य का प्रयोग हो। ताकि फसलों के उत्पादन में रासायनिक खाद्य एवं कीटनाशक के प्रयोग पर नियंत्रण पाया जा सके।

परम्परागत कृषि विकास योजना के तहत किसानो को जैविक खेती के लिए सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जायेगी। वित्तीय अनुदान किसानों को सामूहिक दृष्टिकोण और पीजीएस प्रमाणन प्रणाली के आधार पर प्रदान किया जाएगा। भागीदारी गारेंटी प्रणाली (PGS) के माध्यम से फसलों के आर्गेनिक होने की जाँच की जायेगी। किसानों को जैविक खेती के लिए वित्तीय सहायता प्राप्त करने के लिए 500 से 1000 हेक्टेअर भूमि पर 20 से 50 किसान सदस्यों का एक समूह बनाना होगा। किसानो के एक समूह को अधिकतम रु 10 लाख का वित्तीय अनुदान दिया जाएगा। इसके अतिरिक्त पीजीएस सर्टिफिकेशन के लिए रु 4.95 लाख प्रदान किया जाएगा। आइये जाने इस योजना की विस्तृत जानकारी।

Paramparagat Krishi Vikas Yojana (PKVY) Uddeshya  परंपरागत कृषि विकास योजना का उद्देश्य 

  • जैविक कृषि को बढ़ावा देना है। जिससे रासायनिक खाद्य, कीटनाशक से होने वाले बीमारियों किसानो की सेहत की सुरक्षा हो सके। इसके साथ हीं मिटटी की उपजाऊ शक्ति को नष्ट होने से बचाया जा सके।
  • परम्परागत और वैज्ञानिक विधि के मिश्रण से तैयार कृषि मॉडल पर आधारित खेती की जानकारी से किसानो को अवगत करवाना है। जिससे किसान कम कृषि लागत में ज्यादा फसल पैदा करके अपनी आय को बढ़ाने में सफल हो सके।
  • मानव उपभोग के लिए रसायन मुक्त एवं पौष्टिक फसल का उत्पादन हो सके।
  • पर्यावरण को हानिकारक कार्बनिक रसायनों से मुक्त करने के लिए जैविक खेती को प्रोत्साहन देना है।
  • किसानो को समूह आधार पर स्थानीय और राष्ट्रीय बाजार से जोड़कर किसानो को उधमी बनाना।
  • पीजिएस प्रणाली के माध्यम से फसलो की प्रमाणीकरण की सुविधा किसानों को उपलब्ध करवाना है।

 Jaivik kheti Portal जैविक खेती पोर्टल 

  • ऑर्गेनिक फार्मिंग के लिए समर्पित जैविक खेती पोर्टल नॉलेज प्लेटफॉर्म के साथ-साथ मार्केटिंग प्लेटफॉर्म के लिए तैयार किया गया है।
  •  इस पोर्टल पर जैविक खेती, इनपुट आपूर्तिकर्ता, प्रमाणन एजेंसी (पीजीएस), और विपणन एजेंसियों में शामिल किसानों का विवरण उत्पादन से विपणन तक के सभी कार्यों की सुविधा उपलब्ध है।
  • पीकेवीवाई / पीजीएस समूह क्षमता निर्माण, तकनीकी जानकारी, विपणन चैनलों / अन्य समूहों के साथ संचार और संभावित उत्पादकों और उपभोक्ताओं को उनकी उपज का प्रत्यक्ष विपणन के लिए किसान इस पोर्टल के माध्यम से लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

Paramparagat Krishi Vikas Yojana (PKVY) की आधिकारिक वेबसाइट देखने के लिए लिंक पर क्लिक करिए।

अधिक जानकारी के लिए विडियो देखिये For more information watch video below:

अन्य योजनायें पढ़िए हिंदी में :

पैसा देने वाली मोबाइल एप

बैंक के खिलाफ ऑनलाइन शिकायत कैसे करें

मशरूम उत्पादन प्रशिक्षण आवेदन

5 Comments

  1. cbd oil that works 2020 June 29, 2020
  2. www.education.gouv.sn June 27, 2020
  3. into g June 21, 2020
  4. that g June 21, 2020

Leave a Reply