Cyber Crime Online Complaint Filing Process साइबर क्राइम ऑनलाइन शिकायत दर्ज प्रक्रिया

cyber crime, cyber crime complaint, cyber crime online complaint, cyber crime complaint filing process, cyber crime complaint, cyber crime list, cyber crime tracking process,cyber crime portal kya hai, kendriya yojana, center govt scheme,

cyber crime complaint portal pics

Cyber Crime Online Complaint Filing Process साइबर क्राइम ऑनलाइन शिकायत दर्ज प्रक्रिया 

डिजिटल इंडिया के युग में क्राइम भी डिजिटल होने लगे हैं। ऑनलाइन होने वाले क्राइम को साइबर क्राइम का नाम दिया गया है। इस प्रकार के क्राइम को ऑनलाइन दर्ज करने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा नेशनल साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल लॉन्च किया गया है। साइबर क्राइम के अंतर्गत वो सभी प्रकार के गैर कानूनी कार्य आते हैं। जिनको करने के लिए कंप्यूटर या संचार उपकरण या कंप्यूटर नेटवर्क का उपयोग किया जाता है। साइबर क्राइम की सूचि नेशनल साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल पर सूचीबद्ध की गयी है।

यह पोर्टल साइबर अपराध की शिकायतों की ऑनलाइन रिपोर्ट करने के लिए पीड़ितों / शिकायतकर्ताओं को सुविधा प्रदान करने के लिए भारत सरकार द्वारा की गयी एक पहल है। यह पोर्टल केवल महिलाओं और बच्चों के खिलाफ साइबर अपराधों पर विशेष ध्यान देने के साथ हीं साइबर अपराधों से संबंधित शिकायतों को दर्ज करने के लिए बनायी गयी। इस पोर्टल पर दर्ज की गई शिकायतों को लॉ इन्फोर्समेंट एजेंसी / पुलिस द्वारा शिकायतों में उपलब्ध सूचना के आधार पर निपटाये जाने का प्रावधान किया गया है। आइये जाने साइबर अपराध की शिकायत ऑनलाइन दर्ज करने की प्रक्रिया की जानकारी।

Cyber Crime List  साइबर क्राइम की सूचि 

नेशनल साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल पर 24 प्रकार के अपराधों को साइबर क्राइम के अंतर्गत सूचीबद्ध किया गया है। इन अपराधों का शिकार होने पर अब ऑनलाइन वेब पोर्टल के माध्यम से शिकायत दर्ज की जा सकती है –

  • बाल यौन उत्पीड़न सामग्री को इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर प्रकाशित करने के माध्यम से उत्पीड़न करना।
  • इलेक्ट्रॉनिक या संचार उपकरणों जैसे – मोबाइल फोन  , कंप्यूटर , लैपटॉप आदि के माध्यम से धमकी देना या उत्पीड़न करना।
  • किसी के इच्छा के विरुद्ध उसे ऑनलाइन ट्रैक करना , बात करने की कोशिश करना।
  • ऑनलाइन ग्रूमिंग करना यानि ऑनलाइन यौन क्रिया के लिए प्रेरित करना।
  • ऑनलाइन जॉब फ्रॉड यानी ऑनलाइन रोज़गार देने और ज्यादा पैसे देने का वादा करके पैसा न देकर ठगना।
  •  निजी आपत्तिजनक तस्वीर को ऑनलाइन प्रकाशित करने की धमकी देना।
  • विशिंग यानि जब जालसाज आपके ईमेल आईडी पर लिंक भेजकर या फोन कॉल के माध्यम से व्यक्तिगत जानकारी जैसे कि ग्राहक आईडी, नेट बैंकिंग पासवर्ड, एटीएम पिन, ओटीपी, कार्ड समाप्ति की तारीख, सीवीवी आदि प्राप्त करने का प्रयास करते हैं।
  • मोबाइल फोन  , कंप्यूटर , लैपटॉप आदि संचार माध्यम सेआपत्तिजनक चित्र संचार माध्यम से भेजना।
  • स्माइकिंग एक प्रकार की धोखाधड़ी है जो पीड़ितों को एक धोखाधड़ी वाले फोन नंबर पर कॉल करने, धोखाधड़ी करने वाली वेबसाइटों पर जाने या फोन या वेब के माध्यम से दुर्भावनापूर्ण सामग्री डाउनलोड करने के लिए मोबाइल फोन टेक्स्ट संदेशों का उपयोग करती है।
  • सिम स्वैप घोटाला तब होता है जब धोखेबाज एक पंजीकृत मोबाइल नंबर के खिलाफ जारी किए गए नए सिम कार्ड को मोबाइल सेवा प्रदाता के माध्यम से धोखे से प्राप्त करने का प्रबंधन करते हैं। इस नए सिम कार्ड की मदद से, उन्हें पीड़ित के बैंक खाते के माध्यम से वित्तीय लेनदेन करने के लिए आवश्यक वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) और अलर्ट मिलते हैं। एक पंजीकृत मोबाइल नंबर के खिलाफ नए सिम कार्ड को धोखाधड़ी से प्राप्त करना सिम स्वैप के रूप में जाना जाता है।
  • क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड धोखाधड़ी में किसी अन्य के क्रेडिट या डेबिट कार्ड की जानकारी का अनधिकृत उपयोग  करके शौपिंग करना या पैसा निकालना
  • धोखाधड़ी या बेईमानी से इलेक्ट्रॉनिक हस्ताक्षर, पासवर्ड या किसी अन्य व्यक्ति की किसी अन्य विशिष्ट पहचान आईडी का उपयोग करना
  • स्पैमिंग तब होती है जब किसी को ईमेल, एसएमएस, एमएमएस और किसी अन्य समान इलेक्ट्रॉनिक मैसेजिंग मीडिया के माध्यम से भेजे गए एक अवांछित वाणिज्यिक संदेश मिलते हैं। जिसमें  किसी उत्पाद या सेवा को खरीदने के लिए का प्रलोभन होता है या एक वेबसाइट पर जा सकते हैं जहां वह खरीदारी कर सकता है, जिसके माध्यम से बैंक खाते या क्रेडिट कार्ड के विवरण को चुराने का प्रयास करते हैं
  • रैंसमवेयर एक प्रकार का कंप्यूटर मालवेयर है, जो संचार उपकरणों पर फाइलों, स्टोरेज मीडिया जैसे डेस्कटॉप, लैपटॉप, मोबाइल फोन आदि को एन्क्रिप्ट करता है, डेटा / सूचना को बंधक के रूप में रखता है। पीड़ित को अपने डिवाइस को डिक्रिप्ट करने के लिए मांगे गए फिरौती का भुगतान करने के लिए कहा जाता है।
  • कंप्यूटर के डेटा की चोरी करना।
  • वेबसाइट डीफेसमेंट एक वेबसाइट के दृश्य उपस्थिति को बदलने और / या इसे बेकार बनाने के लिए किया गया एक हमला है। हमलावर अभद्र, शत्रुतापूर्ण और अश्लील चित्र, संदेश, वीडियो आदि पोस्ट कर सकता है।
  • किसी वेबसाइट के डोमेन नेम का प्रयोग करके पैसा कमाना।
  • किसी के वेबसाइट के ट्रैफिक को अपने वेबसाइट पर दिखाने का प्रयास करना।
  • क्रिप्टोजैकिंग करना यानि  क्रिप्टोकरेंसी के लिए कंप्यूटिंग संसाधनों का अनधिकृत उपयोग है।
  • ऑनलाइन ड्रग ट्रैफ़िकिंग करना यानी गैरकानूनी रूप से हेरोइन, कोकीन, मारिजुआना, या इलेक्ट्रॉनिक साधनों का उपयोग करके अन्य अवैध दवाओं को बेचने, परिवहन या अवैध रूप से आयात करने का अपराध है।
  •  मालिक की अनुमति और ज्ञान के बिना डेटा और जानकारी प्राप्त करने का कार्य या अभ्यास है।

उपर्युक्त में से किसी भी अपराध का शिकार होने पर साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल पर ऑनलाइन शिकायत दर्ज की जा सकती है।

Cyber Crime Complaint Filing Process साइबर क्राइम ऑनलाइन शिकायत दर्ज प्रक्रिया

  • ऑनलाइन साइबर क्राइम की शिकायत दर्ज करने के लिए लिंक पर क्लिक करिए।
  • शिकायत का प्रकार चयन करना होगा।
  • इस पेज में file a complaint विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद चेक बॉक्स टिक करने के बाद i accept विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • फिर अपना राज्य, यूजर नेम और मोबाइल नंबर लिखना होगा। फिर मोबाइल नंबर पर ओटिपी आएगा।
  • फिर ओटिपी और कैप्चा कोड लिखने के बाद सबमिट पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद शिकायत दर्ज करने का फॉर्म खुल जाएगा।
  • यदि आप गुमनाम रेप से शिकायत दर्ज करने का विकल्प चयन करेंगे। तो आपको लॉग इन नहीं करना होगा। सीधे शिकायत दर्ज करने का फॉर्म खुल कर आ जाएगा।
  • कंप्लेंट फॉर्म भरने के बाद सबमिट विकल्प पर क्लिक करना होगा। फिर दूसरे पेज में शिकायत आवेदन नंबर लिख कर आएगा। इस नंबर को सेव कर लेना आवश्यक है। इस नंबर की मदद से शिकायत को ट्रैक किया जा सकेगा।

अधिक जानकारी के लिए विडियो देखिये For more information watch video below:

अन्य योजनायें पढ़िए हिंदी में :

एलपीजी उपभोक्ताओं की लायबिलिटी बीमा योजना

ईडब्ल्यूएस छात्रवृत्ति योजना

भारतीय डाक विभाग कार ड्राईवर भर्ती आवेदन

 

Leave a Reply