eNAM Portal Farmer Online Registration Process ई-नाम पोर्टल किसान ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

 

eNAM Portal Farmer Online Registration Process ई-नाम पोर्टल किसान ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

राष्ट्रीय कृषि बाजार (eNAM) एक अखिल भारतीय इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग पोर्टल है। जो मौजूदा APMC मंडियों को कृषि वस्तुओं के लिए एक एकीकृत राष्ट्रीय बाजार बनाने के लिए नेटवर्क करता है। कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय के अंतर्गत eNAM को लागू करने के लिए छोटे किसान कृषि व्यवसाय संघ (SFAC) को एजेंसी नियुक्त किया गया है।

योजना की शुरुआत 14 अप्रैल 2016 को प्रधानमंत्री मोदी द्वारा पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर की गयी थी। हाल ही में 14 जुलाई 2022 को किसानो की सुविधा के लिए e NAM मोबाइल एप लॉन्च किया गया है। इस ऑनलाइन ट्रेडिंग पोर्टल से देश भर की 1260 कृषि मंडी को जोड़ा गया है। जिनमें  203 प्रकार के कृषि उपज को ऑनलाइन बेचने की सुविधा उपलब्ध है। अब किसान अपने ई -नाम मोबाइल एप या वेबपोर्टल के माध्यम से कहीं से भी कृषि मंडियों में अपने कृषि उपज की बोली लगाने के माध्यम से उपज को उचित मूल्य पर बेच कर कृषि उपज का मूल्य सीधे अपने बैंक खाते में प्राप्त कर सकते हैं। आइये देखें ऑनलाइन कृषि उपज बेचने के लिए ई – नाम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन की जानकारी।

 

  Yojana ka Uddeshya योजना का उद्देश्य 

  • कृषि जिंसों में अखिल भारतीय व्यापार को सुविधाजनक बनाने के लिए पहले राज्यों के स्तर पर और अंततः पूरे देश में एक आम ऑनलाइन बाजार मंच के माध्यम से बाजारों को एकीकृत करना।
  •  विपणन/लेन-देन प्रक्रियाओं को सुव्यवस्थित करना और बाजारों के कुशल कामकाज को बढ़ावा देने के लिए उन्हें सभी बाजारों में एक समान बनाना।
  • अधिक खरीददारों/बाजारों तक ऑनलाइन पहुंच के माध्यम से किसानों/विक्रेताओं के लिए बेहतर विपणन अवसरों को बढ़ावा देना।
  • किसानों और किसानों के बीच सूचना विषमता को दूर करना व्यापारी, कृषि वस्तुओं की वास्तविक मांग और आपूर्ति के आधार पर बेहतर और वास्तविक समय मूल्य की खोज, नीलामी प्रक्रिया में पारदर्शिता, उपज की गुणवत्ता के अनुरूप मूल्य, ऑनलाइन भुगतान आदि सुविधाओं को एक प्लेटफॉर्म पर उपयोग करना सुलभ बनाना।
  • खरीदारों द्वारा सूचित बोली को बढ़ावा देने के लिए गुणवत्ता आश्वासन के लिए गुणवत्ता परख प्रणाली स्थापित करना।
  • उपभोक्ताओं के लिए स्थिर कीमतों और गुणवत्तापूर्ण उत्पादों की उपलब्धता को बढ़ावा देना।

 

Registration Eligibility  रजिस्ट्रेशन की पात्रता 

  • कृषि भूमि के मालिक किसान।
  • भारत के नागरिक हों।

 

Required Documents आवश्यक डाक्यूमेंट्स 

  • आधार कार्ड
  • आधार कार्ड लिंक्ड मोबाइल नंबर
  • आधार कार्ड लिंक्ड बैंक खाते के पहले पेज की फोटोकॉपी
  • आवेदक किसान के नाम का बैंक खाता
  • मूल निवास पत्र
  • वोटरआईडी
  • पासपोर्ट साइज वर्तमान की फोटो
  • ईमेल आईडी
  • कैंसल किया हुआ बैंक खाते का चेक

 

eNAM Portal Online Registration Process ई -नाम पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया 

  • ई -नाम पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए आधिकारिक वेबपोर्टल लिंक पर क्लिक करे।
  • फिर होम पेज में दिए registration विकल्प पर क्लिक करें।
  • फिर रजिस्ट्रेशन फॉर्म में रजिस्ट्रेशन टाइप के अंतर्गत seller विकल्प का चयन करें।
  • इसके बाद रजिस्ट्रेशन केटेगरी के अंतर्गत individual farmer विकल्प का चयन करें।
  • अब रजिस्ट्रेशन विथ स्टेट के अंतर्गत अपने राज्य का चयन करे।
  • इसके बाद कृषि उपज मंडी समिति (APMC) का चयन करें।
  • फिर फॉर्म में माँगी गयी सभी सूचनाएं भरने के बाद सभी आवश्यक डाक्यूमेंट्स ऑनलाइन फॉर्म में अपलोड करने के बाद submit विकल्प पर क्लिक करें।
  • इसके बाद फॉर्म में दर्ज किये गए ईमेल आईडी /मोबाइल नंबर पर लॉगिन आईडी और पासवर्ड का मैसेज प्राप्त होगा।
  • अब पोर्टल के होम पेज पर दिए लॉगिन विकल्प पर क्लिक करे।
  • मैसेज में प्राप्त लॉगिन आईडी के प्रयोग से पोर्टल पर लॉगिन करें।
  • अब आपके नाम से डैशबोर्ड खुल जाएगा। इस पेज में दिए click here to register with APMC विकल्प पर क्लिक करें।
  • इसके बाद रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुलेगा फॉर्म में सभी सूचनाएं भरने के बाद चयनित एपीएमसी की स्वीकृति प्राप्त होने के बाद पोर्टल से लिंक्ड सभी एपीएमसी के नाम और पता का विवरण देख सकेंगे।
  • एपीएमसी द्वारा अनुमोदित होने के बाद, आपको पंजीकृत ई-मेल आईडी पर e-NAM प्लेटफॉर्म पर पूर्ण पहुँच के लिए eNAM किसान स्थायी लॉगिन आईडी और पासवर्ड प्राप्त होगा। जिसकी सहायता से
    आप संबंधित मंडी / एपीएमसी से संपर्क कर सकेंगे।

 

किसान हेल्पलाइन टोल फ्री नंबर – 1800 270 0224 एवं ईमेल आईडी – enam.helpdesk@gmail.com पर  संपर्क किया जा सकता है।

ई -नाम पोर्टल आधिकारिक वेबपोर्टल लिंक।

 

अधिक जानकारी के लिए विडियो देखिये  For more information watch video below:

 

 

 

 

अन्य योजनाएं पढ़िए हिंदी में :

मध्य प्रदेश युवा अन्नदूत योजना 2022

ई – श्रम योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

पीएम किसान योजनाआधार विफलता रिकॉर्ड में सुधार

 

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

 

ई -नाम पोर्टल पर पंजीकरण की पात्रता क्या है?

ई -नाम पोर्टल पर भारत के मूल निवासी सभी किसान पंजीकरण के पात्र हैं।

 

ई -नाम पोर्टल क्या है?

किसानों को ऑनलाइन अपनी उपज को देश भर की किसी मंडी तक अपनी पहुँच बनाने का अवसर प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी द्वारा ई -नाम पोर्टल लॉन्च किया गया है। यह एक कृषि उपज विपणन प्लेटफॉर्म है, जिसके माध्यम से किसान घर बैठे अपनी कृषि उपज को देश भर की किसी भी मंडी में बेच सकते हैं और फसल की कीमत सीधे अपने बैंक खाते में प्राप्त कर सकते हैं।

 

ई -नाम मोबाइल एप कैसे डाउनलोड किया जा सकता है?

ई -नाम मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए किसान के पास स्मार्ट फ़ोन होना आवश्यक है। स्मार्ट फोन में दिए आइकॉन गूगल प्ले स्टोर/एप्पल स्टोर के माध्यम से ई -नाम मोबाइल एप डाउनलोड करने के बाद मोबाइल में इनस्टॉल करना होगा। इसके बाद मोबाइल एप के माध्यम से भी अपनी कृषि उपज को ऑनलाइन बेचने का लाभ प्राप्त कर सकेंगे।

 

क्या ई -नाम प्लेटफॉर्म पर व्यापार करने के लिए पंजीकरण करना आवश्यक है?

जी हाँ, ई -नाम की आधिकारिक वेबसाइट पर पंजीकरण करने के बाद आपके नाम से डैशबोर्ड क्रिएट हो पायेगा। जिसके माध्यम से कृषि मंडियों का चयन और उपज बेचने की प्रक्रिया पूरी की जा सकेगी।

 

ई -नाम पोर्टल पर पंजीकरण के लिए कौन – कौन से डाक्यूमेंट्स की आवश्यकता होगी?

पंजीकरण के लिए आवश्यक दस्तावेजों की सूचि निम्नलिखित है –

  • आधार कार्ड
  • आधार कार्ड लिंक्ड मोबाइल नंबर
  • आधार कार्ड लिंक्ड बैंक खाते के पहले पेज की फोटोकॉपी
  • आवेदक किसान के नाम का बैंक खाता
  • मूल निवास पत्र
  • वोटरआईडी
  • पासपोर्ट साइज वर्तमान की फोटो
  • ईमेल आईडी
  • कैंसल किया हुआ बैंक खाते का चेक

 

 

 

 

eNAM Portal , Yojana ka Uddeshya , eNAM Portal Online Registration Process, ई -नाम पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया, Registration Eligibility, Required Documents, eNAM portal kya hai, eNAM portal ke fayde, kisan yojana, mukhyamantri yojana, pradhanmantri yojana, state govt scheme, kendriya yojana