Chhattisgarh Lakh Crop Loan Scheme छत्तीसगढ़ लाख फसल ऋण योजना 2022 -23

lakh fasal rin

Chhattisgarh Lakh Crop Loan Scheme छत्तीसगढ़ लाख फसल ऋण योजना 2022 -23

 

छत्तीसगढ़ राज्य से देश भर में कुल लाख फसल उत्पादन का 42 % प्राप्त होता है। लाख केरिना लाका कीट से प्राप्त होने वाला राल है। ये कीट पलाश और बेर के वृक्ष की टहनियों से रस चूसकर पोषण प्राप्त करते हैं। कीट अपनी बचाव के लिए राल का स्त्राव करने के माध्यम से सुरक्षा कवच का निर्माण करते हैं। कीटों के कवच को लाख फसल के रूप में प्राप्त किया जाता है।

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ के जंगलों में प्राकृतिक रूप से भारी मात्रा में पलाश के वृक्ष पाए जाते हैं। यही कारण है कि आदिवासी इलाकों में निवास करने वाले गोंड, बेंगा जैसी जनजातीय समूह की आजीविका का प्रमुख स्त्रोत लाख की फसल है। राज्य के विभिन्न जिलों में किसान लाख की फसल का उत्तपादन पारम्परिक खेती के रूप में करते आ रहे हैं।

वर्तमान में राज्य के लगभग 50 हज़ार किसान लाख की फसल उत्पादन कार्य से जुड़े हुए हैं। वर्तमान में 4 हज़ार टन लाख का उत्पादन प्राप्त होता है। जिसका अनुमानित मूल्य लगभग रु 100 करोड़ है। राज्य सरकार द्वारा लाख उत्पादन में 10 हज़ार तन तक वृद्धि करने के माध्यम से किसानो को लाख की फसल से कुल आय 250 करोड़ रूपये करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस उद्देश्य को पूरा करने के लिए लाख की फसल उत्पादन के लिए किसानों को प्रोत्साहन हेतु बिना ब्याज के ऋण उपलब्ध करवाने का निर्णय लिया गया है। आइये जाने योजना से लाभ प्राप्त करने की जानकारी।

 

 Benefits of Scheme योजना से लाभ 

  • किसानो को लाख की फसल उत्पादन के लिए प्रोत्साहित करना।
  • देश में लाख की फसल उत्पादन में गिरावट से प्रति किलो लाख के मूल्य में रु 300 से 900 तक वृद्धि को देखते हुए इसकी खेती से किसानो की आय दोगुनी करने के उद्देश्य को पूरा करने में मदद मिल सकती है। इसी अवसर का लाभ किसानो उठाने में मदद करने के उद्देश्य से बिना ब्याज ऋण लाख फसल ऋण योजना की शुरुआत की गयी है।
  • लाख फसल उत्पादन के अंतर्गत कुसुमी बीहन उत्पादन के लिए ग्रीष्म ऋतु और रंगीनी बीहन उत्पादन के लिए वर्ष ऋतु का समय उपयुक्त है। अतः लाख फसल उत्पादन को अपनाकर किसान वर्ष में दो बार आमदनी प्राप्त कर सकेंगे।
  • लाख फसल उत्पादन को वैज्ञानिक पद्धति से करने के लिए राज्य लघु वनोपज संघ द्वारा कांकेर में प्रशिक्षण केंद्र खोला गया है। जहाँ 3 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन कृषि फार्म में लाख उत्पादक किसानो को प्रदान करने की व्यवस्था की जायेगी।
  • आदिवासी क्षेत्र के 12 वीं कक्षा पास तेंदूपत्ता संग्राहक युवा सदस्यों का चयन वनधन मित्र के रूप में किया जाएगा। इन वनधन मित्रों को अपने क्षेत्र के लाख किसानों के सर्वेक्षण, प्रशिक्षण, बीहन लाख व्यवस्था तथा फसल ऋण वितरण कार्य सौंपा जाएगा। वनधन मित्रों को कार्य के बदले उचित परिश्रमिक पर नियुक्त किया जाएगा। जिससे राज्य में रोजगार के नए अवसर का निर्माण हो सकेगा।

 

 

   Lakh Poshak tree Laon   लाख पोषक वृक्ष हेतु ऋण की सीमा 

  • पलाश पर रु 500 प्रति वृक्ष।
  • बेर पर रु 900 प्रति वृक्ष।

 

Fixed Price for Purchase and Sale of Lakh Beehan  लाख बीहन के क्रय-विक्रय का निर्धारित मूल्य 

राज्य में लाख बीहन की कमी को पूरा करने के लिए लाख फसल उत्पादन से जुड़े किसानों से उचित मूल्य पर बीहन लाख क्रय मूल्य का निर्धारण किया गया है। इसी प्रकार किसानो को लाख बीहन उपलब्ध करवाने के लिए विक्रय मूल्य का भी निर्धारण किया गया है। जो कि इस प्रकार है –

 

किसानों से लाख बीहन क्रय मूल्य

  • बेर वृक्ष से प्राप्त होने वाले कुसुमी बीहन लाख का क्रय मूल्य 550 रु प्रति किलोग्राम।
  • पलाश के वृक्ष से प्राप्त रंगीनी बीहन लाख का क्रय मूल्य रु 275 प्रति किलोग्राम।

 

किसानों को लाख बीहन उपलब्ध करवाने के लिए निर्धारित विक्रय मूल्य

  • बेर वृक्ष से प्राप्त होने वाले कुसुमी बीहन लाख का विक्रय मूल्य 640 रु प्रति किलोग्राम।
  • पलाश के वृक्ष से प्राप्त रंगीनी बीहन लाख का विक्रय मूल्य रु 375 प्रति किलोग्राम।

 

How to get lakh crop loan लाख फसल ऋण का लाभ कैसे पाएं 

  • लाख उत्पादन के लिए किसानो को ऋण उपलब्ध करवाने का कार्य पूरा करने के लिए राज्य लघु वनोपज संघ के नेतृत्त्व में 20 जिला यूनियन में 3 -5 सिमित क्षेत्र को जोड़कर लाख उत्पादक क्लस्टर गठित किया जाएगा।
  • प्रत्येक लाख उत्पादक क्लस्टर में प्रति किसान सर्वेक्षण के माध्यम से बीहन लाख की माँग की जानकारी का प्राप्त की जायेगी।
  • किसानों को लाख बीहन योजना के तहत निर्धारित मूल्य पर कुल आवश्यक धनराशि को जिला यूनियन खाते में पहले जमा करना होगा।
  • रंगीनी बीहन क्रय हेतु किसानों की माँग के सर्वेक्षण करने की अंतिम तिथि 10 नवंबर 2022 निर्धारित की गयी है
  • कुसुमी बीहन क्रय करने के लिए किसानो की माँग सर्वेक्षण की अंतिम तारीख 30 नवंबर 2022।
  • किसानों द्वारा बीहन क्रय के लिए अग्रिम राशि जिला यूनियन खाते में जमा करने की अंतिम तिथि 15 दिसंबर 2022 निर्धारित की गयी है।
  • योजना के तहत लाख फसल ऋण बिना ब्याज के उपलब्ध करवाने की प्रक्रिया जिला सहकारी बैंक के माध्यम से पूरी की जायेगी।

 

छत्तीसगढ़ लाख फसल ऋण योजना आधिकारिक वेबसाइट

 

अधिक जानकारी के लिए विडियो देखिये  For more information watch video below:

 

 

अन्य योजनाएं पढ़िए हिंदी में :

ई – श्रम योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

पीएम किसान योजनाआधार विफलता रिकॉर्ड में सुधार

मध्य प्रदेश युवा अन्नदूत योजना 2022

 

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

 

कुसुमी बीहन के लिए किसानों की माँग सर्वेक्षण की अंतिम तिथि क्या है?

कुसुमी बीहन की माँग हेतु किसानो के सर्वेक्षण की अंतिम तारीख 30 नवंबर 2022  निर्धारित की गयी है।

 

लाख फसल उत्पादन हेतु बिना ब्याज ऋण कैसे प्राप्त होगा?

लाख फसल ऋण बिना ब्याज के छत्तीसगढ़ राज्य के सहकारी बैंक के माध्यम से प्राप्त होगा।

 

लाख बीहन क्रय करने के लिए किसानों को क्या करना होगा?

योजना के तहत निर्धारित लाख बीहन क्रय मूल्य की आवशयक राशि छत्तीसगढ़ राज्य के लघु वनोपज संघ द्वारा गठित जिला यूनियन खाते में अग्रिम जमा करना होगा इसके बाद लाभार्थी किसानो में लाख बीहन का वितरण किया जाएगा।

 

 

chhattisgarh lakh crop loan scheme, लाख फसल ऋण, chhattisgarh lakh bihan laon scheme, लाख फसल निशुल्क ब्याज ऋण योजना, lakh fasal loan yojana benefits, Lakh Poshak tree laon, Fixed price for purchase and sale of Lakh Beehan, Lakh Poshak tree Laon, lakh bihan loan process, chhattisgarh govt scheme, mukhyamantri yojana, pradhanmantri yojana, state govt scheme, kendriya yojana, kisan yojana,