Chhattisgarh Indira Van Mitan Yojana छत्तीसगढ़ इंदिरा वन मितान योजना

इंदिरा वन मितान योजना, indira van mitan, chhattisgarh van mitan yojana, chhattisgarh indira van mitan yojana, indira van mitan yojana ka uddeshya, van mitan yojana ke labh, van mitan yojana aavedan, indira van mitan yojana kya hai, chhattisgarh scheme, mukhyamantri yojana, pradhan mantri yojana, sarkari yojana,

indira van mitan yojana pics

Chhattisgarh Indira Van Mitan Yojana छत्तीसगढ़ इंदिरा वन मितान योजना

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा आदिवासी क्षेत्र के विकास के लिए इंदिरा वन मितान योजना शुरू करने की घोषणा की गयी है। इस योजना की घोषणा 9 अगस्त 2020 को विश्व आदिवासी दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा की गयी है। योजना का उद्देश्य वन धन का समुचित उपयोग करने के माध्यम से रोजगार सृजन करना है। योजना के तहत राज्य के अनुसूचित क्षेत्र के 10,000 आदिवासी गाँवों में युवाओं के समूह गठित करने का निर्धारण किया गया। युवाओं के समूह अपने – अपने क्षेत्र के वन संशाधन की मार्केटिंग, प्रसंस्करण आदि की व्यवस्था करने का कार्य करेंगे। योजना के संचालन से आदिवासी क्षेत्र के युवाओं को रोजगार मिलेगा। फलस्वरूप आदिवासीय जन जीवन आर्थिक रूप से सशक्त होगा। इससे राज्य में राजस्व का निर्माण होने के साथ हीं आदिवासीयों को देश की मुख्यधारा से जोड़ा जा सकेगा। आइये जाने वन मितान योजना की अब तक की जानकारी।

Chhattisgarh Indira Van Mitan Yojana ka Uddeshya छत्तीसगढ़ इंदिरा वन मितान योजना का उद्देश्य 

इंदिरा वन मितान योजना को शुरू करने का उद्देश्य आदिवासी जन -धन का समुचित उपयोग करना है। जिससे छत्तीसगढ़ राज्य के आदिवासियों के जीवन स्तर ऊपर उठाया जा सके। योजना के तहत आदिवासियों क्षेत्र के युवाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए अनुसूचित क्षेत्र के 10 हज़ार गावों को शामिल किया जाएगा। इन क्षेत्रों के 19 लाख परिवारों को योजना से जोड़ने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।अनुसूचित क्षेत्र के विकास के लिए गठित किये जाने वाले समूह में 10 से 15 सदस्य होंगे। इस तरह के समूह राज्य के सभी विकास खंड में बनाए जायेगे। जो कि वन मित्र के नाम से जाने जायेंगे। ये वन मितान अपने -अपने क्षेत्र के वन उपज की खरीदारी वन संपदा का संरक्षण, प्रसंस्करण एवं मार्केटिंग की व्यवस्था करेंगे। जिससे आदिवासियों को उपज का उचित मूल्य प्राप्त हो सकेगा। राज्य के सभी 85 विकास खंड में वन उपज प्रसंस्करण इकाई की स्थापना करने का निर्धारण किया गया है।

Chhattisgarh Indira Van Mitan Yojana ke Labh छत्तीसगढ़ इंदिरा वन मितान योजना के लाभ 

  • वन मितान योजना से छत्तीसगढ़ राज्य में राजस्व का सृजन होगा।
  • इस योजना के माध्यम से अनुसूचित क्षेत्र के आदिवासी युवाओं को रोजगार प्राप्त होगा।
  • योजना के तहत गठित युवाओं के समूहो के माध्यम से जल, जंगल और जमीन के सदुपयोग से आदिवासी जन जीवन के आर्थिक स्थिति में सुधार की रणनीति तैयार की जायेगी।
  • वन मितान समूहों को वृक्षों के प्रबन्धन का अधिकार सौंपा जाएगा। ताकि वन उपज के संग्रहण , संरक्षण , प्रसंस्करण और मार्केटिंग का कार्य स्वतंत्र रूप से करने में किसी प्रकार की रुकावट का सामना न करना पड़े।
  • राज्य के आदिवासी क्षेत्र में फलों एवं औषधीय वनस्पतियों के वृक्षारोपण करने को बढ़ावा दिया जाएगा।
  • योजना के संचालन से आदिवासी क्षेत्र के युवा आत्मनिर्भर और आर्थिक रूप से सशक्त बनेंगे।

छत्तीसगढ़ इंदिरा वन मितान योजना की जानकारी के स्त्रोत के लिए लिंक पर क्लिक करिए।

अधिक जानकारी के लिए विडियो देखिये For more information watch video below:

अन्य योजनायें पढ़िए हिंदी में :

हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना

म.प्र. मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना

अदरक उत्पादन तकनीक की जानकारी

 

Leave a Reply