यूपी किशोरी बालिका योजना UP Kishori Balika Yojana

UP Kishori Balika Yojana ki Patrta, Kishori Balika Yojana, यूपी किशोरी बालिका योजना, Kishori Balika Yojana ka Uddeshya, किशोरी बालिका योजना का क्रियान्वयन, UP Kishori Balika Yojana

यूपी किशोरी बालिका योजना UP Kishori Balika Yojana

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा 21 फरवरी 2019 को लखनऊ के लोकसभा में किशोरी बालिका योजना को शुरू किया गया। यह योजना प्रदेश की समय से पहले स्कूल छोड़ चुकी किशोरी बालिकाओं के लिए प्रारम्भ की गई है। योजना का संचालन प्रदेश की बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग द्वारा किया जायगा। योजना के तहत प्रत्येक वर्ष में जनवरी और जुलाई महीने की 8 तारीख को बाल किशोरी दिवस का आयोजन किया जाएगा। इस योजना के क्रियान्वयन से प्रदेश की लगभग 5 लाख किशोरी बालिकाओं को लाभ प्राप्त होगा। आइये जाने योजना की पूरी जानकारी।

यूपी किशोरी बालिका योजना का उद्देश्य UP Kishori Balika Yojana ka Uddeshya

  • इस योजना का उद्देश्य समय से पहले स्कूल छोड़ चुकी 11- 14 वर्ष की किशोरी बालिकाओं में अशिक्षा एवं कुपोषण को दूर करना है।
  • योजना के तहत किशोरी बालिकाओं में प्रोटीन एवं कैलोरी की कमी को दूर करने के लिए महीने में 25 दिन मक्का, बाजरा,रागी, ज्वार, दाल एवं घी जैसी खाद्य पदार्थों को उपलब्ध कराया जायगा।
  • उत्तर प्रदेश में प्रत्येक वर्ष जनवरी एवं जुलाई महीने की 8 तारीख को ए.एन. एम उपकेंद्रों में किशोरी बालिका दिवस का आयोजन किया जाएगा। जिसमें किशोरी बालिकाओं के स्वास्थ्य की जाँच की जायेगी।
  • प्रत्येक महीने की 8 तारीख को प्रदेश के आंगनबाड़ी केन्द्रों में किशोरी बालिका दिवस मनाया जाएगा। जिसके फलस्वरूप अनाज, देशी घी एवं नमकीन के पैकेट वितरित किये जायेंगे।
  • योजना के तहत अशिक्षित बालिकाओं को स्कूल जाने के लिए प्रेरित किया जाएगा एवं स्वरोजगार के लिए सिलाई ,कढ़ाई, कंप्यूटर आदि की ट्रेनिंग आंगनबाड़ी केन्द्रों पर दी जायेगी।

किशोरी बालिका योजना का क्रियान्वयन Kishori Balika Yojana ka kriyanvayn

  • योजना को कार्य रूप में परिणित करने के लिए बाल पुष्टाहार विभाग, स्वास्थ विभाग एवं माध्यमिक शिक्षा विभाग एकजुटता से कार्य करेंगे।
  • योजना का प्रारम्भ 8 मार्च 2019 से किया जाएगा। इसके शुरूआती चरण में प्रदेश के सभी ए.एन. एम उपकेंद्रों में किशोरी बालिकाओं के स्वास्थ एवं खून की जाँच किये जाने के कार्यक्रम का निर्धारण किया गया है।
  • योजना के तहत आंगनबाड़ी कार्यकर्ता महिलाएं अपने क्षेत्र की सभी स्कूल छोड़ चुकी किशोरी बालिकाओं को प्रत्येक महीने की 8 तारीख को एकत्रित करके पोषण आहार, घी एवं नमकीन के पैकेट वितरित करेंगी।
  • माध्यमिक शिक्षा विभाग के प्रत्येक विद्यालयों में 11-14 वर्ष तक की किशोरी बालिकाओं को अनाज, दाल, घी एवं नमकीन के पैकेट घर ले जाने के लिए वितरित किये जायेंगे।
  • प्रदेश के सभी ए.एन. एम उपकेंद्रों में प्रत्येक वर्ष के जनवरी एवं जुलाई महीने की 8 तारीख को किशोरी बालिकाओं के स्वास्थ्य की जाँच की जायेगी।
  • अभी तक योजना से सम्बंधित आधिकारिक वेबपोर्टल की सूचना अपडेट नहीं हुई है।

यूपी किशोरी बालिका योजना की पात्रता UP Kishori Balika Yojana ki Patrta

  • योजना का लाभ प्रदेश के गरीब परिवारों की किशोरी बालिका को दिया जाएगा।
  • किशोरी बालिका को उत्तर प्रदेश राज्य का निवासी होना आवश्यक है।
  • योजना का लाभ 11-14 वर्ष तक की किशोरी बालिकाओं को प्राप्त होगा।
  • किशोरी बालिका का अपने क्षेत्र के आंगनबाड़ी केंद्र में नामांकन होना आवश्यक है। स्वास्थ्य जाँच का लाभ प्राप्त करने के लिए आंगनबाड़ी केंद्र से हेल्थ कार्ड बनवाना आवश्यक होगा।

योजना की अधिक जानकारी यूट्यूब विडियो में देखिये  For more information watch YouTube video.

अन्य योजनायें पढ़िए हिंदी में :

उ.प्र. किसान कर्ज माफ़ी योजना

मुख्यमंत्री कन्या विवाह एवं निकाह योजना-2019

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट-2019

Leave a Reply