SBI Swadhan Plus Insurance Yojana एसबीआई स्वधन प्लस बीमा योजना

swadhan plus bima yojana, sbi life smart swadhan plus, swadhan plus bima yojana, swadhan plus insurance policy, swadhan plus bima yojana eligibility, swadhan plus bima yojana benefits, एसबीआई स्वधन प्लस बीमा योजना, swadhan plus bima yojana ke labh, sbi insurance policy,

swadhan plus bima policy pics

SBI Swadhan Plus Insurance Yojana एसबीआई स्वधन प्लस बीमा योजना

एसबीआई लाइफ स्मार्ट स्वधन प्लस पारंपरिक नॉन लिंक्ड टर्म बीमा योजना है। इस बीमा योजना के अंतर्गत बीमा पालिसी की परिपक्वता अवधि के पूरी होने पर बीमा राशि के साथ हीं बीमा के प्रीमियम की मूल राशि भी प्राप्त होती है। इसलिए स्वधन प्लस बिमा पालिसी को बीमा सह निवेश योजना भी कहा जाता है। बीमाधारक की मृत्यु होने की दशा में नॉमिनी को बीमा की राशि के साथ हीं पालिसी के प्रीमियम की कुल राशि भी रिफंड की जाती है। यदि बीमाधारक पालिसी की परिपक्वता अवधि पूरी होने के बाद तक जीवित रहता है, तो उसके द्वारा बीमा पालिसी के प्रीमियम के रूप में जमा की गयी कुल राशि वापस कर दी जाती है। इस बीमा योजना के तहत रु 7 लाख से अधिक की बीमा पालिसी का चयन किया जाता है, तो बीमा के प्रीमियम की राशि पर छूट प्रदान किये जाने का प्रावधान है। आइये जाने इस बीमा योजना की विस्तृत जानकारी।

SBI Swadhan Plus Insurance Yojana Eligibility  एसबीआई स्वधन प्लस बीमा योजना की पात्रता 

  • बीमा योजना लेने की न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम आयु 65 वर्ष है।
  • बीमा की कवर/परिपक्वता  की आयु 75 वर्ष है।
  • न्यूनतम रु 5 लाख की बीमा पालिसी लिया जा सकता है और अधिकतम की कोई सीमा निर्धारित नहीं की गयी है।
  • न्यूनतम 10 वर्ष और अधिकतम 30 वर्ष के लिए बीमा पालिसी ली जा सकती है।
  • बीमा के प्रीमियम के भुगतान के लिए मौजूद विकल्पों में से एकल, नियमित, 5,10,15 वर्ष के लिए सीमित प्रीमियम का चुनाव किया जा सकता है। प्रीमियम मोड एकल, मासिक, त्रैमासिक, अर्धमासिक या वार्षिक चयन करने की सुविधा है।

SBI Swadhan Plus Insurance Yojana Benefits एसबीआई स्वधन प्लस बीमा योजना के लाभ 

  • बीमाधारक की किसी भी प्रकार की दुर्घटनावश या प्राकृतिक मृत्यु होने की दशा में बीमा योजना की राशि का लाभ नॉमिनी को मिलता है।
  • पालिसी जारी रहने की अवधि में बीमाधारक की मृत्यु होने पर नॉमिनी को बीमित राशि का भुगतान किया जाता है।
  • बीमा पालिसी की परिपक्वता अवधि पूरी होने तक बीमाधारक के जीवित रहने पर प्रीमियम की मूल राशि का रिफंड किया जाता है।
  • बीमा पालिसी के प्रीमियम के भुगतान के लिए चयन की गयी फ्रिकेवंसी/ आवृति एकल/सीमित/नियमित किया जाना आवश्यक है।
  •  रु 7 लाख से अधिक का बीमा पालिसी लेने पर बीमा के प्रीमियम में छूट का लाभ प्राप्त किया जा सकता है।
  • बीमा पालिसी के प्रीमियम भुगतान और बीमा परिपक्वता राशि पर आयकर नहीं देना होगा।
  • प्रीमियम भुगतान के लिए त्रैमासिक, अर्धवार्षिक, वार्षिक मोड का चयन करने पर निश्चित तारीख के बाद 30 दिन का ग्रेस पीरियड दिया जाता है। मासिक मोड का चयन करने पर निश्चित तारीख तक प्रीमियम भुगतान करने में असमर्थ होने पर 15 दिनों का ग्रेस पीरियड मिलता है।
  • इस बीमा पालिसी पर लोन नहीं लिया जा सकता है और न हीं किसी प्रकार के बोनस का लाभ प्राप्त होता है। इसका कारण पालिसी का नॉन लिंक्ड होना है।

एसबीआई स्वधन प्लस बीमा योजना की ऑफिसियल वेबसाइट के लिए लिंक पर क्लिक करिए।

अधिक जानकारी के लिए विडियो देखिये For more information watch video below:

अन्य योजनाये पढ़िए हिंदी में :

बिहार मुख्यमंत्री एससी एवं एसटी उद्यमी योजना

मुख्यमंत्री समग्र गाम विकास योजना

उत्तराखंड रहबर योजना

 

Leave a Reply