Mukhyamantri Aanchal Amrit Yojana मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना

Aanchal Amrit, आँचल अमृत योजना , mukhyamantri aanchal amrit yojana, uttarakhand aanchal yojana, aanchal amrit yojana eligibility,aanchal amrit yojana features, aanchal amrit yojana kya hai, mahila evam baal vikas mantralaya yojana, uttarakhand scheme, uttarakhand govt scheme, sarkari yojana, govt scheme, baal kalyan yojana,

Mukhymantri-Anchal-Amrit-Yojana pics

Mukhyamantri Aanchal Amrit Yojana मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना

उत्तराखंड सरकार द्वारा आंगनबाड़ी केन्द्रों में पढ़ने वाले बच्चों के लिए आँचल अमृत  योजना शुरू की गयी है। यह योजना वर्ष 2019 में त्रिवेंद्र रावत सरकार द्वारा संचालित की गयी है। उत्तराखंड की महिला एवं बाल विकास मंत्री के अनुसार प्रदेश में लगभग 18 लाख बच्चे कुपोषण के शिकार हैं।अतः आँचल अमृत योजना को प्रदेश में कुपोषण की समस्या पर नियंत्रण पाने के लिए अभियान के रूप में चलाया जाना सुनिश्चित किया गया है। योजना के तहत आंगनबाड़ी केन्द्रों में पढ़ने वाले बच्चों को सप्ताह में दो बार दूध दिया जाएगा। गौरतलब है कि उत्तराखंड में 20 हज़ार आंगनबाड़ी केंद्र हैं। जिसमें लगभग 2.5 लाख बच्चे पढ़ने आते हैं। इनमें से ज्यादातर बच्चे निम्न आय वर्ग के परिवारों से हैं मुख्यमंत्री द्वारा इस योजना को शुरू करने का उद्देश्य बच्चों में कुपोषण की समस्या पर नियंत्रण पाना है। इस योजना के लागू होने से आंगनबाड़ी केन्द्रों में बच्चों की उपस्थिति को बढ़ाने में भी मदद मिलेगी। जिससे बच्चों में कुपोषण की समस्या को दूर करने के साथ हीं शिक्षित भी किया जा सकेगा। योजना का लाभ प्रदेश के आंगनबाड़ी केंद्र में रजिस्टर बच्चों को हीं प्राप्त होगा। आइये जाने इस लेख के माध्यम से योजना की पूरी जानकारी।

Mukhyamantri Aanchal Amrit Yojana Eligibility  मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना पात्रता 

  • योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आंगनबाड़ी केंद्र में बच्चे का नाम पंजीकृत होना आवश्यक होगा।
  • आंगनबाड़ी केन्द्रों पढ़ने वाले 3 से 6 वर्ष के बच्चों को योजना का लाभ प्राप्त होगा।
  • योजना का लाभ प्रदेश के सभी आंगनबाड़ी केंद्र पर पढ़ने वाले बच्चों को प्राप्त होगा।

Mukhyamantri Aanchal Amrit Yojana Features  मुख्यमंत्री आँचल अमृत योजना की विशेषतायें

  • योजना के तहत प्रदेश के सभी आंगनबाड़ी केंद्र में 3 से 6 वर्ष के बच्चों को सप्ताह में दो बार मुफ्त दूध दिया जाएगा।
  • बच्चों को हर बार 100 मिली दूध देने का प्रावधान किया गया है। इस प्रकार एक सप्ताह में प्रत्येक बच्चे को 200मिली दूध दिया जाएगा। जिससे बच्चों में कैल्शियम, प्रोटीन, विटामिन एवं मिनरल्स की कमी नहीं होगी। जिससे बच्चे शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रहेंगे।
  • बच्चों को दूध वितरित करने के लिए प्रदेश के आंगनबाड़ी केन्द्रों को सरकार की तरफ से फ्लेवर्ड मिल्क पाउडर उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • आँचल अमृत योजना से प्रदेश के लगभग 2.5 लाख बच्चों में कुपोषण को दूर किया जा सकेगा।
  • उत्तराखंड में कुल 20 हज़ार आंगनबाड़ी केंद्र हैं। इन सभी केन्द्रों पर स्कूल में प्रवेश लेने से पहले 3 से 6 तक के बीपीएल श्रेणी के बच्चे आते हैं। मुफ्त दूध मिलने से इन बच्चों में कुपोषण की समस्या पर नियंत्रण पाया जा सकेगा।
  • योजना का लाभ लेने के लिए प्रदेश के 3 से 6 वर्ष तक के बच्चों का आंगनबाड़ी केंद्र में नाम रजिस्टर होना आवश्यक होगा।

अधिक जानकारी के लिए विडियो देखिये For more information watch video below:

अन्य योजनायें पढ़िए हिंदी में :

राष्ट्रिय खेलों के प्रतिभागीयों को सरकारी नौकरी योजना

आधार कार्ड में सुधार के नए नियम

वस्त्र क्षेत्र में क्षमता निर्माण की समर्थ योजना

Leave a Reply