Kejriwal ki ‘Farishte Delhi ke’ Yojana केजरीवाल की ‘फ़रिश्ते दिल्ली के’ योजना

Farishte Delhi ke,फ़रिश्ते दिल्ली के, Kejriwal ki ‘Farishte Delhi ke’ Yojana, delhi mukhyamantri farishte delhi ke yojana, Farishte Delhi ke Yojana uddeshya, Farishte Delhi ke Yojana Features, Kejriwal yojana, delhi govt scheme, delhi cm scheme, delhi mukhyamantri yojana, sarkari yojana, welfare scheme, muft ilaj yojana,nishulk chikitsa yojana

farishte delhi ke yojana pics

Kejriwal ki ‘Farishte Delhi ke’ Yojana केजरीवाल की ‘फ़रिश्ते दिल्ली के’ योजना

सड़क हादसों में दुर्घटना ग्रस्त नागरिकों की मदद के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजेरिवल द्वारा  7 अक्टूबर 2019 को ‘फ़रिश्ते दिल्ली के’ योजना लांच किया गया है। इस योजना को डेढ़ वर्ष पहले पायलट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू किया गया था। इस अवधि में लगभग 3000 नागरिकों की योजना के तहत सड़क दुर्घटना में घायल होने पर जान बचाई गयी। योजना को मौलाना आजाद मेडिकल कालेज में लांच करने के अवसर पर जान बचाने वाले नागरिकों को फ़रिश्ते दिल्ली के नाम से सम्मानित किया गया और रु 2000 की राशि भी प्रादान की गयी।

योजना के तहत सड़क हादसों में दुर्घटना ग्रस्त, जले हुए घायल और एसिड अटैक से पीड़ित दिल्ली के नागरिकों के इलाज का खर्चा केजरीवाल सरकार उठाएगी। सड़क दुर्घटना ग्रस्त व्यक्तियों को अस्पताल पहुंचाने वाले व्यक्ति को दिल्ली सरकार सम्मान के तौर पर रु 2000 इनाम देगी। केजरीवाल ने ऑटो रिक्शा चालाक एवं टैक्सी चालाक भाइयों से अपील की है कि वो किसी भी दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति को अस्पताल पहुंचाने में मदद करे। ताकि घायल व्यक्ति को समय पर चिकित्सा मिल सके। मदद करने वालो से दिल्ली पुलिस कोई पूछताछ नहीं करेगी। तो आइये जाने इस लेख के माध्यम से योजना की जानकारी।

Farishte Delhi ke Yojana uddeshya  फ़रिश्ते दिल्ली के योजना का उद्देश्य 

  • केजरीवाल द्वारा इस योजना को शुरू करने का उद्देश्य सड़क हादसों में घायल व्यक्तियों को समय पर इलाज उपलब्ध कराना है। ताकि घायल व्यक्तियों की जान बचाई जा सके।
  • योजना के तहत पुलिस द्वारा मद्द्कर्ता से कोई पूछताछ न करने का प्रावधान करने से ज्यादा से ज्यादा लोग मदद करने को आगे आयेंगे। इसके अतिरिक्त अस्पताल में पूछताछ की कार्यवाही से पहले इलाज करना होगा। वर्ना लाइसेंस निरस्त कर देने का प्रावधान करने से पीड़ित व्यक्ति को इलाज समय पर मिल पायेगी।
  • इलाज का खर्चा दिल्ली सरकार द्वारा वहन करने से पैसे के आभाव में सरकारी अस्पताल पहुँचने के चक्कर में व्यक्ति की जान नहीं जायेगी। दरअसल निजी अस्पतालों में इलाज का खर्च ज्यादा होने के कारण गरीब व्यक्ति सरकारी अस्पताल में इलाज करवाना चाहता है। जिससे कई बार अस्पताल पहुँचते -पहुँचते जान चली जाती है।

Farishte Delhi ke Yojana Features   फ़रिश्ते दिल्ली के योजना की विशेषताएं 

  • सड़क दुर्घटना में घायल, एसिड अटैक अथवा आग लगने से जले हुए पीड़ित व्यक्तियों के इलाज का खर्चा, बड़े से बड़े ऑपरेशन का खर्चा, एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल शिफ्ट करने में एम्बुलेंस का खर्चा आदि दिल्ली सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।
  •  सड़क  दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति का इलाज करने से मना करने वाले अस्पतालों का लाइसेंस निरस्त कर दिया जाएगा।
  • दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति को अस्पताल पहुंचाने वाले व्यक्ति से दिल्ली पुलिस द्वारा कोई पूछताछ नहीं की जायेगी। मदद करने वाले व्यक्ति को अस्पताल में अपना पहचान प्रमाण पत्र जमा करना होगा। ताकि योजना की पुरूस्कार राशि प्रदान करने के लिए उसका नाम दिल्ली सरकार के पास भेजा जा सके।
  • दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति को अस्पताल पहुँचाने वाले व्यक्ति को पुरूस्कार राशि के तौर पर रु 2000 दिया जाएगा। इसके अतिरिक्त सम्मान के तौर पर “दिल्ली के फ़रिश्ते” का प्रमाण पत्र दिल्ली सरकार द्वारा दिया जाएगा।
  •  जब दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति की हालत में सुधार होने पर उसे अपना पहचान प्रमाण पत्र देना होगा। यदि घायल व्यक्ति की हालत गंभीर रूप से घायल है। तो उसके परिवार के देखभाल करने वाले व्यक्ति द्वारा पीड़ित व्यक्ति का पहचान पत्र अस्पताल में जमा करना होगा।

अधिक जानकारी के लिए विडियो देखिये For more information watch video below:

अन्य योजनायें पढ़िए हिंदी में :

एसबीआई डेबिट कार्ड ईएमआई सुविधा

खाता बुक एप कैसे प्रयोग करें

उत्तर प्रदेश विवाह अनुदान योजना

 

 

 

 

Leave a Reply