जन हेतु -जन सेतु मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री हेल्पलाइन योजना । Jan hetu-Jan Setu MP CM Helpline Yojana

मध्य प्रदेश सीएम हेल्पलाइन योजना,MP CM helplineNumber-181 yojana,mp helpline yojana mein online shikayat darj karne ki prakriya,mp helpline yojana ke online form mein shikayat sambandhi dstavez kaise sanlagn kare

helpline yojana image

जन हेतु -जन सेतु मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री हेल्पलाइन योजना ।

Jan hetu-Jan Setu MP CM Helpline Yojana

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा अपने प्रदेश में सुशासन एवं जनता को निरोगी,स्वस्थ,खुशहाल करने की कामना के आशय से प्रदेश में सीएम हेल्पलाइन योजना का शुभारंम्भ किया गया है। मध्य प्रदेश में शासन व्यवस्था को सुदृढ़ करने तथा जनता एवं सरकार के बीच के फासले को समाप्त करने के उद्देश्य से जन हेतु -जन सेतु सीएम हेल्पलाइन योजना की पहल कर देश के सामने एक अनूठा उदहारण प्रस्तुत किया है।

हेल्पलाइन योजना के टोल फ्री नंबर 181 का उपयोग कर अब जनसाधारण अपनी समस्याओं के निराकरण हेतु सीधे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से संपर्क कर सकते हैं। इस टोल फ्री नंबर के द्वारा अब प्रत्येक नागरिक सरकार द्वारा प्रदेश में संचालित योजनाओं की जानकारी भी प्राप्त कर सकता है।

मुख्यमंत्री हेल्पलाइन योजना क्या है  (CM Helpline Yojana kya hai):

मुख्यमंत्री द्वारा हेल्पलाइन नंबर को शुरू करने का मकसद जनता की समस्याओं का निराकरण करना है। अब मध्य प्रदेश की जनता एक फ़ोन कॉल के माध्यम से अपनी समस्या सरकार तक पहुंचा सकती है। यह टोल फ्री नंबर जन हेतु -जन सेतु का कार्य करेगी। योजना के सुचारू रूप से संचालन हेतु सरकार द्वारा सीएम हेल्पलाइन वेब पोर्टल का भी शुभारम्भ किया गया है। इस वेब पोर्टल का उपयोग करके जनता अपनी शिकायत ऑनलाइन दर्ज कर सकती है। दर्ज की गई शिकायत का प्रकरण शिकायत के समाधान एवं शिकायतकर्ता के संतुष्टि के बाद हीं बंद किया जायेगा। इस योजना के तहत शुरू किये गए हेल्पलाइन टोल फ्री नंबर 181 तथा वेब पोर्टल से प्रदेश के विभिन्न विभाग के 13 हज़ार अधिकारी- कर्मचारी को जोड़ा जायेगा। जो अपने -अपने विभाग से सम्बंधित जनता की समस्याओं का निवारण करेंगे। जनसाधारण अपनी शिकायत इस योजना के वेब पोर्टल पर ऑनलाइन दर्ज करने के बाद समस्या के निवारण की स्थिति भी जाँच सकते हैं। इसके अतिरिक्त जनसाधारण अपनी समस्याओं के निराकरण से सम्बन्धित सुझाव भी सरकार के सामने प्रस्तुत कर सकते हैं।

किस विषय से सम्बंधित शिकायतें मान्य नहीं होंगी (Kis vishay se sambadhit shikayate amany hongi) :

  • न्यायालय में विचाराधीन मामले।
  • सूचना का अधिकार से सम्बंधित मामले।
  • आर्थिक सहायता या नौकरी दिए जाने की मांग।

ऑनलाइन शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया (Online Shikayat darj karne ki prakriya):

web portal image

  • इस पेज में दिए विकल्प शिकायत /मांग /सुझाव दर्ज करे पर क्लिक करना है। फिर जो पेज खुलेगा उसका चित्र देखिये नीचे :

  • इस फॉर्म में जानकारी भरने के साथ हीं आप अपने शिकायत के विवरण से संबधित दस्तावेज़ को भी संलग्न कर सकते हैं।
  • दस्तावेज़ को फॉर्म में संलग्न करने की विधि : पहले अपने शिकायत से संबधित दस्तवेज़ को कंप्यूटर में प्रिंटर के माध्यम से स्कैन करके अपनी फाइल को कंप्यूटर में save करिए। फिर फॉर्म में दिए विकल्प स्कैन कॉपी संलग्न करें में choose file पर क्लिक करिये। क्लिक करने पर saved फाइल की लिस्ट खुल जाएगी। उसमें से अपने द्स्त्वेज की फाइल पर क्लिक करने पर आपकी फाइल फॉर्म के साथ संलग्न हो जाएगी।
  • ध्यान रहे आपके द्वारा फॉर्म में लिखी गयी शिकायत में 200 शब्द होना अनिवार्य है।
  • इस पेज में मांगी गयी जानकारी लिखने के बाद अंत में दिए विकल्प जन शिकायत को दर्ज करें विकल्प पर क्लिक करना है।
  • शिकायत से सम्बंधित मांग एवं सुझाव दर्ज करने के लिए लिंक पर क्लिक करिए  मांग एवं सुझाव दर्ज करें
  • अपने ऑनलाइन शिकायत की स्थिति जानने के लिए लिंक का प्रयोग करिए Grievance status 

status

  • आपको  अपने शिकायत फॉर्म का क्रमांक लिख कर फिर देखें विकल्प पर क्लिक करना होगा।

मध्य प्रदेश सरकार के अन्य योजनाएं पढ़िए हिंदी में :

 

Leave a Reply