Fastag kahan Se kharide फास्टैग कहाँ से खरीदे

Fastag, Fastag kya Hai, Fastag kahan Se kharide, Fastag kharidne ke Documents,Fastag kharidne ki Fees, Fastag ki security fess, fastag mobile app, kendriya yojana, modi yojana, parivahan mantralaya yojana,फास्टैग

fast tag scheme image

 

Fastag kahan Se kharide फ़ास्टैग कहाँ से खरीदे

केंद्र सरकार द्वारा 1 दिसम्बर 2019 से हाईवे पर टोल प्लाजा से गुजरने वाली वाहनों के लिए फ़ास्ट टैग अनिवार्य कर दिया गया है। फ़ास्टैग वाहनों के लिए अनिवार्य करने का उद्देश्य टोल प्लाजा पर वाहनों की भीड़ को समाप्त करना एवं डिज़िटल पेमेंट को बढ़ावा देना है। इसके लिए सरकार द्वारा नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया (NHAI) को 30 नवम्बर 2019 तक निशुल्क फ़ास्ट टैग जारि करने के निर्देश दिए हैं। 1 दिसम्बर 2019 से बिना फ़ास्ट टैग लगे वाहनों को टोल प्लाजा से गुजरने के लिए दोगुना टोल टैक्स देना होगा। पिछले दो वर्षों से नये वाहनों में कंपनी की तरफ से फ़ास्ट लगा हुआ मिल रही है। यदि आपने पुराने वाहन में अभी तक फ़ास्टैग नहीं लगाया है। तो आइये जाने इस लेख के माध्यम से फ़ास्टैग की जानकारी।

Fastag kya Hai फ़ास्टैग     

फ़ास्टैग एक स्टीकर है। जो वाहनों के विंडशील्ड पर लगाया जाएगा। यह एक रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिटीफिकेशन टेक्नोलॉजी (RFID) आधारित टैग है। टोल प्लाजा पर फ़ास्टैग को स्कैन करने के लिए एचडी कैमरा लगा रहेगा। जो  वाहनों के टोल प्लाज़ा पर पहुँचते हीं फ़ास्ट टैग को स्कैन कर लेगा और टोल गेट खुल जाएगा। इसके बाद टोल टैक्स राशि वाहन मालिक के फ़ास्टैग अकाउंट से कट जाएगी। फ़ास्टैग अमाउंट बैंक खाते से काटने के बाद आपके बैंक खाते से जुड़े रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर मेसेज अमाउंट डिडक्शन का प्राप्त हो जाएगा। इसी प्रकार यदि आपके फ़ास्ट टैग खाते में बैलेंस लो होगा। तो बैंक की तरफ से एसएमएस अलर्ट प्राप्त होगा।

फास्टैग लगे वाहन के ड्राईवर को टोल प्लाजा पर टोल टैक्स देने के लिए रुकना नहीं होगा। इस तकनीक के शुरू होने से टोल प्लाजा पर वाहनों को कतार में घंटों खड़े होकर टोल टैक्स देने का इन्तजार नहीं करना पड़ेगा। जिससे समय की बचत के साथ हीं वाहनों के ईंधन की भी बचत होगी। टोल प्लाजा पर फास्टैग लगे वाहनों के लिए अलग लेन होगी। जिससे वाहन बिना रुके टोल प्लाजा से निकल सकेंगी।

Fastag kahan Se kharide फ़ास्टैग कहाँ से ख़रीदे 

  • सभी सरकारी एवं निजी बैंक से फ़ास्ट टैग खरीदा जा सकता है। जैसे – स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया , एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई  बैंक,एक्सिस बैंक आदि।
  •  अमेज़न, पेटीएम डॉट कॉम से ऑनलाइन खरीदा जा सकता है।
  • भारत पेट्रोलियम, हिंदुस्तान पेट्रोलियम, इंडियन आयल कारपोरेशन के पेट्रोल पम्प से खारिदा जा सकता है।
  • नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया द्वारा संचालित माई फ़ास्टैग और फ़ास्टैग पार्टनर  मोबाइल एप्प की सहायता से खरीदा जा सकता है।

Fastag kharidne ke Documents     फ़ास्टैग खरीदने के लिए दस्तावेज़ 

  • वाहन मालिक का पहचान पत्र, निवास प्रमाण पत्र आदि केवाईसी (kyc) दस्तावेज़
  • वहन का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट
  • वाहन मालिक का रंगीन फोटो

Fastag kharidne ki Fees    फ़ास्टैग खरीदने का शुल्क 

फ़ास्टैग खरीदने के लिए शुल्क देना होता है। फ़ास्टैग फीस के अलावा सिक्यूरिटी फीस भी देना होता है। शुल्क की राशि वाहन के प्रकार पर निर्भर करती है। फ़ास्टैग की सयूरिटी फीस रिफंडेबल होती है। जब आप अपना फ़ास्टैग खाता बंद करते हैं। तो एजेंसी द्वारा फ़ास्टैग की सिक्यूरिटी फीस वापस कर दी जाती है। फ़ास्टैग खाते को न्यूनतम रु 100 और अधिकतम रु 1  लाख से रिचार्ज करवाया जा सकता है।

अधिक जानकारी के लिए विडियो देखिये For more information watch video below:

अन्य योजनायें पढ़िए हिंदी में :

मुख्यमंत्री सेप्टिक टैंक सफाई योजना

उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना

असम अरुंधति स्वर्ण योजना

 

 

Leave a Reply