Kisan Rail Yojana 2021-22 किसान रेल योजना 2021-22

किसान रेल, किसान रेल योजना, kisan rail, kisan rail yojana, kisan rail yojana ka uddeshya, kisan rail yojana visheshtaayen, kisan rail yojana features, process of goods booking in kisan rail yojana, kisan rail mein booking kaise kare, kisan rail yojana kya hai, kisan yojana, kisan rail special ke routes, pradhan mantri yojana, sarkari yojana, krishi evam kisan kalyan mantralaya yojana

किसान रेल योजनाKisan Rail Yojana 2021-22 किसान रेल योजना 2021-22

केंद्रीय बजट 2020-21 में किसान रेल योजना शुरू करने की घोषणा की गयी थी। इस योजना के तहत पहली रेल सेवा की शुरुआत ७ अगस्त 2020 देवलाली (महाराष्ट्र) से दानापूर (बिहार) के बीच रवाना की गयी थी।अब तक 18 रूटों पर किसान रेल सेवा की शुरुआत की जा चुकी है।22 जनवरी 2021 तक 157 किसान रेल सेवाएं संचालित की जा चुकी हैं, जो 49000 टन से अधिक माल की ढुलाई कर रही हैं।

किसान रेल योजना प्रधानमंत्री मोदी के मिशन वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुणी करने के लक्ष्य पूरा करने में अहम भूमिका निभाएगी।किसानों को अपनी उपज के बिक्री के लिए वृहद बाज़ार उपलब्ध करवाने एवं जल्दी ख़राब होने वाली कृषि उपज और खाद्य पदार्थों की ढुलाई के लिए मल्टी- कमोडिटी , मल्टी -कंसाइनर, मल्टी – लोडिंग/अन्लोडिंग परिवहन सेवा शुरू की गयी योजना के तहत रेल सेवा का लाभ उठाने के लिए किसानों को ऑनलाइन कृषि रेल टिकट बुकिंग करना होगा। आइए जाने योजना की पूरी जानकारी।

Kisan Rail Yojana ka Uddeshya  किसान रेल योजना का उद्देश्य

इस योजना का उद्देश्य जल्दी खारब होने वाले कृषि उत्पाद जैसे – फल ,सब्ज़ियाँ, पोल्ट्री, माँस, मछली सहित डेयरी उत्पादों की खपत अथवा ज़्यादा माँग वाले स्थानों तक पहुँचाने के लिए तेज़, सुरक्षित एवं सस्ती परिवहन सुविधा उपलब्ध करवाना है जिससे किसानो को कृषि उत्पादों की बिक्री के लिए बड़े स्तर पर बाज़ार उपलब्ध हो सके। इस योजना का मुख्य उद्देश्य कृषि उत्पादन केंद्रों को बाज़ार और उपभोक्ता केंद्रों से जोड़कर किसानों की आय में वृद्धि करना है।

Kisan Rail Yojana Features  किसान रेल योजना की विशेषता

  • किसान रेल एक स्पेशल पार्सल ट्रेन होगी जिसमें तापमान नियंत्रित कोल्ड स्टोरेज की सुविधा होगी।
  • इन ट्रेनों का संचालन एक समयबद्ध सारणी के अनुसार विभिन्न रेल मार्गों पर किया जाएगा।
  • उत्पादों के ख़राब होने के समय की  पाबंदी को ध्यान में रखते हुए नियत समय पर निर्धारित स्थान पर पहुँचाने की समय -सीमा को सुनिश्चहित किया जाएगा.
  • कृषि उत्पादों की बुकिंग की कोई निश्चित मात्रा निर्धारित नहीं की गयी है।जिससे छोटे किसान भी अपने उत्पादों की बिक्री के लिए बड़े बाज़ारों तक अपनी पहुँच बनाने में सफल हो सकेंगे।
  • परिवहन समय और लागत में कमी के कारण बड़े बाज़ारों  अथवा दूर -दराज़ के दुर्गम क्षेत्रों के उपभोक्ताओं को भी कृषि उत्पाद कम क़ीमत पर उपलब्ध हो सकेगा।
  • किसान रेल योजना के माध्यम से ट्रेन में परिवहन की जाने वाली कृषि उत्पादों में मुख्य रूप से फलों, सब्ज़ियों, डेयरी उत्पाद और मीट, पोल्ट्री, मछली आदि शामिल की गयी हैं।
  • फलों में मुख्यतः संतरा, केला,आम, अनार,कस्टर्ड सेब, अमरूद, किवी, मोसमी,किनो, लाइम,निम्बू , अनानास, कटहल, बादाम, पैशन फ़्रूट, नाशपाती आदि शामिल है।सब्ज़ियों में सेम फली, करेला ,बैंगन,शिमला मिर्च, गाजर , फूलगोभी, हरी मिर्च,ओक्ररा,खीरा -ककड़ी, मटर,आलू ,प्याज़, टमाटर आदि शामिल है।
  • सभी किसान रेल सेवाओं के लिए पार्सल टैरिफ़ के ‘पी -स्केल’ पर शुल्क लिया जा रहा है।
  • खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय के ‘ऑपरेशन ग्रीन्स टॉप टू टोटल’ योजना के तहत किसान रेल से फलों और सब्ज़ियों के परिवहन पर माल ढुलाई पर 50% की सब्सिडी प्रदान की जाएगी।
  • देश के किसान समुदाय की सेवा के क्रम में, किसान रेल मल्टी कमोडिटीज, मल्टी कंसाइनर्स और मल्टी कंसाइनीज के तहत ढुलाई करेगी।
  • ये ट्रेनें रूट पर पड़ने वाले स्टॉपेज के साथ मूल स्थान-गंतव्य तक जोड़ी में परिचालित होंगी, साथ ही इस पर रूप पर पड़ने वाले सभी स्टॉपेज से लोडिंग/ अपलोडिंग की अनुमति होगी।
  • ट्रेनों के मूल स्थान- गंतव्य, रूटों, स्टॉपेज और ट्रेनों की फ्रीक्वेंसी का फैसला कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय और रेल मंत्रालय द्वारा संयुक्त रूप से किया जाएगा।जिसके अनुसार हीं भारतीय रेल ट्रेन चलाने की योजना बनाएगी।

Kisan Rail Services Routes  किसान रेल सेवा के रूट 

किसान रेल सेवा के मार्गों का विवरण निम्न सारणी में प्रदर्शित किया गया है:

KISAN RAIL ROUTES

किसान रेल योजना में माल बुकिंग की प्रक्रिया Process of booking goods in Kisan Rail Yojana

  • माल /सामान की ढुलाई की व्यवस्था का समन्वय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा किया जाएगा।
  • कृषक उत्पादक संगठन (FPO) के माध्यम से कंसाइनमेंट (भेजे जाने वाले माल) का एकत्रीकरण का कार्य पूरा किया जाएगा।
  • अतः किसानों को अपने माल की बुकिंग के लिए क्षेत्रीय कृषक उत्पादक संगठन से सम्पर्क करना होगा।

किसान रेल योजना की जानकारी का स्त्रोत 

अधिक जानकारी के लिए विडियो देखिये  For more information watch video below:

अन्य योजनाए पढ़िए हिंदी में :

पी एम स्वामित्व योजना सम्पत्ति कार्ड कैसे डाउनलोड करें

ई -श्रमिक कार्ड ऑनलाइन पंजीकरण कैसे करें

उत्तर प्रदेश फ्री लैपटॉप योजना आवेदन 2021