Sovereign Gold Bond Yojana सॉवरेन गोल्ड बांड योजना

देश के लोगों में गोल्ड को धन के रूप में खरीद कर जमा करने की वजह से देश की अर्थव्यवस्था पर बुरा प्रभाव पड़ता है। देशवासियों में गोल्ड जमा करने की प्रवृत्ति को कम करने तथा गोल्ड को चलन में लाने के मकसद से मोदी सरकार द्वारा वर्ष 2015 में सॉवरेन गोल्ड बांड योजना की शुरुआत की गई है। योजना के तहत केंद्र सरकार वर्ष 2018- 19 से प्रत्येक वर्ष अक्टूबर से फरवरी तक गोल्ड के बांड जारी करेगी। गोल्ड बांड की प्रति यूनिट कीमत बाज़ार के उतार -चढ़ाव पर निर्भर करेगी। बांड की परिपक्वता की अवधि पूरी हो जाने पर निवेशक गोल्ड के मूल्य को नकद धन में प्राप्त कर सकेंगे।

Sovereign Gold Bond, Sovereign Gold Bond kya Hai, सॉवरेन गोल्ड बांड क्या है, Gold Bond Mein Nivesh ke Documents , Sovereign Gold Bond Kahan Se kharide, Sovereign Gold Bond ke Liye Patrta, Gold Bond Mein Nivesh ke Labh, सॉवरेन गोल्ड बांड में निवेश

Sovereign-Gold-Bonds इमेज

Sovereign Gold Bond Yojana सॉवरेन गोल्ड बांड योजना

Sovereign Gold Bond kya Hai सॉवरेन गोल्ड बांड क्या है

सॉवरेन गोल्ड बांड (SGB) सरकारी की तरफ से रिजर्व बैंक द्वारा जारि किया गया बहुमूल्य कागज है। जो निवेशक को भौतिक गोल्ड के विकल्प के रूप में निवेश के लिए सरकार की और से जारि किया जाता है। निवेशक भौतिक गोल्ड को योजना में निवेश कर एसजीबी को अपने पास रखता है। इसके बाद परिपक्वता (मैचुरिटी) की अवधि पूरी हो जाने पर सॉवरेन गोल्ड बांड को नकद धन के रूप में प्राप्त करता है।

Sovereign Gold Bond Mein Nivesh ke Documents सॉवरेन गोल्ड बांड में निवेश के लिए दस्तावेज़

  • पैन कार्ड
  • आधार कार्ड
  • टैक्स डिडक्शन एंड कलेक्शन अकाउंट नंबर (TAN)

Sovereign Gold Bond Kahan Se kharide सॉवरेन गोल्ड बांड कहाँ से खरीदें

सॉवरेन गोल्ड बांड खरीदने के लिए नकद , डिमांड ड्राफ्ट, चेक अथवा ऑनलाइन या ऑफलाइन भुगतान किया जा सकता है। न्यूनतम एक ग्राम अथवा उसके गुणांक के बराबर गोल्ड की कीमत के बांड को खरीद सकता है। नकद एसजीबी बांड केवल रूपए 20 हज़ार मूल्य तक का हीं खरीदा जा सकता है। निम्नलिखित माध्यम से सॉवरेन गोल्ड बांड खरीदा जा सकता है :

  • एसजीबी के लिए नामित डाकघर
  • खुदरा निवेशेक बैंक
  • स्टॉक होल्डिंग कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया
  • बीएसई/एनएसई स्टॉक एक्सचेंज

Sovereign Gold Bond ke Liye Patrta सॉवरेन गोल्ड बांड के लिए पात्रता

योजना के तहत कोई भारतीय नागरिक एसजीबी खरीद सकता है। गोल्ड बांड खरीदने की मात्रा प्रति ग्राम गोल्ड के मूल्य की कीमत के बराबर व्यतिगत अथवा संस्था के लिए निर्धारित की गयी है।जो निम्नलिखित है :

  • व्यक्तिगत निवेश निवेशक 500 ग्राम मूल्य की कीमत के बराबर का बांड खरीद सकते हैं।
  • हिन्दू संयुक्त परिवार एक वर्ष में 4 किलोग्राम सोने के मूल्य के बराबर गोल्ड बांड खरीद सकते हैं।
  • विश्वविध्यालय या ट्रस्ट जैसी संस्थाएं एक वश में 20 किलोग्राम मूल्य की कीमत के बराबर के बांड को खरीद सकती हैं।

Sovereign Gold Bond Mein Nivesh ke Labh सॉवरेन गोल्ड बांड में निवेश के लाभ

  • एसजीबी सोने के बाज़ार भाव से कम कीमत में उपलब्ध होता है। इसमें निवेश करने पर योजना के तहत 2.75% की दर से वार्षिक ब्याज प्राप्त किया जा सकता है। ब्याज की रकम निवेशक के बैंक खाते में प्रत्येक छह महीने में जमा हो जाती है।
  • बांड की मैच्युरिटी पीरियड 8 वर्ष की निर्धारित की गई है। निवेशक के पास बांड को धन में परिवर्तित करने का विकल्प निवेश के पाँचवे, छठे, सातवें वर्ष में होता है।
  • सोने के मूल्य में गिरावट होने पर भी बांड में निवेश किये गए सोने के मूल्य पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।
  • एसजीबी में निवेश के बाद प्राप्त मूलधन पर इनकम टैक्स देना होता है। हालाँकि बांड की परिपक्वता अवधि पूरी होने पर प्राप्त हुए कैपिटल अमाउंट पर इनकम टैक्स कुछ प्रतिशत की छूट मिलती है। किन्तु मैच्युरिटी पीरियड से पहले बांड को नकद में प्राप्त करने पर इनकम टैक्स में छूट नहीं प्राप्त होती है।

अन्य योजनायें पढ़िए हिंदी में :

हरियाणा: मुख्यमंत्री परिवार सम्मान निधि योजना

मोदी सरकार के साथ बिज़नेस का अवसर

प्रधानमंत्री श्रेयस योजना

Leave a Reply