Property Loan kaise le प्रॉपर्टी लोन कैसे लें

property loan ke liye document,property loan ke liye kya kare,property par loan ki rashi evam byaz

property loan image

Property Loan kaise le ।  प्रॉपर्टी लोन कैसे लें

जीवन अनिश्चित है। यहाँ राजा को रंक बनते देर नहीं लगती है।कहते हैं- ‘मुसीबत बिना बुलाये आती है।’ ऐसे हीं किसी प्राकृतिक आपदा, बिजनेस में घाटा या अन्य किन्हीं कारणों से हमें अपने हुए नुक्सान की भरपायी के लिए हमारे औकात से ज्यादा धनराशि की आवश्यकता आ पड़ती है। ऐसे में दोस्त एवं रिश्तेदार भी यदि हाथ खड़े कर दें। तो हमें  अपने पास पड़े सोने के गहने की याद आती है। यदि हमारी जरुरत पूरी करने में वे भी अपर्याप्त होते हैं।

तो फिर हमारे पास एक अंतिम विकल्प होता है। अपने घर या जमीन पर लोन लेने का। ऐसे वक्त में बैंक हमारी मदद करती है। प्रॉपर्टी पर लोन सारे बैंकों द्वारा दिया जाता है। जीवन में हमेशा बुरे वक्त से निपटने की तैयारी रखनी चाहिए। तो आइये जाने इस लेख के माध्यम से प्रोपटी पर लोन कैसे लिया जा सकता है।

प्रॉपर्टी लोन क्या होता है (Property kya hota hai):

बैंक द्वारा आपकी प्रॉपर्टी अर्थात घर, प्लाट या खेत को गिरवी रख कर दिये जाने वाले लोन प्रॉपर्टी लोन कहते हैं। इस लोन के तहत बैंक द्वारा आपके प्रॉपर्टी के मूल्य का आंकलन किया जाता है। इसके बाद आपके लोन चुकता करने की सामर्थ के अनुसार लोन की राशि बैंक द्वारा तय की जाती है।

प्रॉपर्टी पर लोन की राशि एवं ब्याज :

  • ज्यादातर प्रॉपर्टी के कीमत का 50% से 70% तक लोन मिल जाती है।
  • प्रॉपर्टी पर लिए गए लोन को चुकाने की अवधि अधिकतम 15 साल तक होती है।
  • लोन पर ब्याज की राशि का निर्धारण बैंकों के नियम एवं शर्तों पर निर्भर करता है।

प्रॉपर्टी लोन लेने के लिए क्या करें (Property Loan lene ke liye kya kare):

यदि आप ऐसे प्रॉपर्टी पर लोन लेना चाहते हैं। जिस पर आपके परिवार के कई लोगों का हक़ है। तो इसके लिए आपको जॉइंट एप्लीकेशन बैंक को देना होगा। यदि लोन के लिए बैंक में गिरवी रखी जाने वाली प्रॉपर्टी के आप अकेले मालिक हैं। तो बैंक के नियम एवं शर्तों के अतिरिक्त लोन के लिए आवश्यक दस्तावेज़ देकर आप आसानी से लोन प्राप्त कर सकते हैं।

प्रॉपर्टी पर लोन लेने के लिए दस्तावेज़ (Property par Loan ke liye documents):

  • अपनी प्रॉपर्टी के कागज़
  • अपनी नौकरी के आय का प्रमाण पत्र, सैलरी अकाउंट के 6 महीने का बैंक स्टेटमेंट
  • यदि आपका बिजनेस है तो बैंक स्टेटमेंट, आयकर रिटर्न, सर्टिफाइड फाइनेंसियल स्टेटमेंट
  • पहचान प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र

प्रॉपर्टी पर लोन बैंक द्वारा आसानी से और लम्बी अवधि के लिए मिल जाता है तथा पर्सनल लोन के मुकाबले इस लोन की ब्याज दर भी कम होती है।

अन्य योजनायें पढ़िए हिंदी में:

 

 

 

 

Comments

comments

Leave a Reply