Pradhanmantri Mahila Shakti kendra Yojana । प्रधानमंत्री महिला शक्ति केंद्र योजना

mahila shakti kendr,msk yojana ka uddeshy,PMMSK Yojana ka uddesh, Padhanmantri mahila shakti kendr yojana, mahila shakti kendr yojana ke labh

MSK YOJANA PIC

Pradhanmantri Mahila Shakti kendra Yojana । प्रधानमंत्री महिला

शक्ति केंद्र योजना

देश की वर्तमान सरकार का मिशन हैं- सबका साथ सबका विकास करने का इसी मिशन को यथार्थ में बदलने के लिए केंद्र सरकार द्वारा देश के अल्पसंख्यक, अनुसूचित जाति/ जनजाति, पिछड़ी जाति एवं महिलाओं के स्वावलंबन हेतु स्किल डेवलपमेंट योजना, स्वरोजगार हेतु सब्सिडी दर पर लोन मुहैया कराने की योजना तथा मिहलाओं और बच्चों के पोषण और अधिकारों के लिए जागरूकता बढ़ाने की योजना का संचालन किया गया है।

इसी क्रम में 2017-18 के बजट में महिलाओं की सुरक्षा और सशक्तिकरण मिशन के अंतर्गत महिला शक्ति केंद्र योजना को शामिल करने की घोषणा की गयी है। इस नयी उपयोजना को 2017-18 से 2019-20 तक क्रियान्वयन करने का लक्ष्य रखा गया है। इस योजना का संचालन महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा किया जाएगा। आइये जाने इस योजना की विस्तृत जानकारी इस लेख के माध्यम से।

एमएसके योजना का उद्देश्य (Mhila Shakti kendr ka uddeshy):

इस योजना की शुरूआत पहले चरण में 115 अति पिछड़े जिलों के ब्लाक से की जाएगी। इस योजना के तहत स्वयंसेवक छात्र NGO परिवर्तन के एजेंट के रूप में आंगनबाड़ी की महिला सदस्यों के साथ मिलकर ग्रामीण महिलाओं को सरकार द्वारा चलायी गई उनके हित की योजनाओं, बच्चों के पोषण, लिंग केअनुपात में समानता, महिलाओं के अधिकार आदि के बारे में जागरूक करने का कार्य करेंगे। जिससे महिलाओं को सशक्त एवं स्वावलंबी बन सकें और नवजात शिशुओं के कुपोषण की समस्या पर काबू पाया जा सके तथा बच्चियों की शिक्षा एवं सुरक्षा सुनिश्चित हो सके।

योजना का क्रियान्वयन (Yojana ka kriyanvayan):

नयी उपयोजना महिला शक्ति केंद्र के माध्यम से महिलाओं के सुरक्षा एवं सशक्तिकरण एवं बाल कुपोषण,शिक्षा स्वास्थ तथा अधिकारों से सम्बंधित सभी मुद्दों पर राष्ट्र और राज्य स्तरीय सस्थाएं सरकार की  तकनिकी के माध्यम से सहयोग प्रदान करेंगी। वहींं जिला और ब्लाक स्तरीय  बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना सहित महिला सुरक्षा एवं सशक्तिकरण मिशन नामक अम्ब्रेला योजना को 640 जिलों में चरणबद्ध तरीके से सफलतापूर्वक क्रियान्वयन करने में महिला शक्ति केंद्र को सहयोग प्रदान करेंगे। ब्लाक स्तरीय समिति में निम्नलिखित सदस्य शामिल होंगे :

  • जिले / ब्लाक में चलाए जा रहे कालेजों के चार सदस्य
  • जिले के सरकारी प्रतिनिधि
  • ब्लाक के एक सरकारी प्रतिनिधि
  • महिला स्वयं सहायता समूह के दो प्रतिनिधि

महिला शक्ति केंद्र (एमएसके) के ब्लाक स्तरीय कार्य (MSK ke Block striye kary) :

  • ग्राम स्तर पर समूह को सुद्रिन करने के लिए महिलाओं को एकत्र करना।
  • ग्राम सभा, पंचायती राज संस्थाओं एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों जैसी कार्यप्रणाली में महिलाओं की भागीदारी को बढाने के लिए प्रोत्साहित करना
  • कार्यकर्ताओं द्वारा सरकारी योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जानकारी को ग्रामीण महिलाओं में प्रसार करने की प्रक्रिया को सरल बनाना एवं महिलाओं को उनके विकास से सम्बंधित योजनाओं से जुड़ने के लिए प्रेरित और सहायता करना।
  • सरकारी योजनाओं एवं कार्यक्रमों में नामांकन के लिए आवश्यक दस्तावेज़ जैसे -आधार कार्ड , निवास प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र आदि तैयार करने में महिलाओं की मदद करना।
  • बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना के प्रचार एवं प्रसार में  जिला स्तरीय महिला केंद्र (डीएलसीडब्ल्यू)  की सहायता करना।
  • पंचायतो, वन स्टॉप सेंटर, ग्राम स्वास्थ, स्वच्छता एवं पोषण समिति /ग्राम स्वास्थ एवं पोषण दिवस     (वीएचएसएनसी /वीएचएनडी) जैसे प्लेटफार्म के प्रयासों द्वारा शिकायत निवारण प्रणाली को सरल बनाना।
  •  महिला शक्ति केंद्र के कार्यकर्ताओं (स्टाफ) का उसी क्षेत्र में कार्यरत  सिविल सोसाइटी संगठन (सिएसओ), गैर सरकारी संगठन (एन जीओ) से जोखिम भरे अवसरों पर सहायता के लिए समन्वय स्थापित करना।
  • राज्य में महिलाओं एवं बच्चों के प्रति हिंसा, शिक्षा, वित्त, स्वास्थ एवं पोषण से सम्बंधित, आजीविका के क्षेत्र (सेक्टर) में काम कर रहे सरकारी, सिविल सोसाइटी संगठन, पंचायती राज्य संस्थाओं की  ग्रामीण महिलाओं को पहचान करवाना।

योजना से लाभ (Yojana ke Labh) :

  • महिलाओं के प्रति हिंसा को कम करने में सहायक होगी।
  • महिलाओं एवं बच्चो के कुपोषण एवं स्वास्थ में सुधार होगा।
  • ग्रामीण महिलाओं में अपने अधिकारों के प्रति जागरूकता बढ़ेगी।
  • सरकार द्वारा शुरू किये गए महिलाओं के हित की योजनाओं और उनका लाभ लेने के लिए प्रोत्साहन एवं जागरूकता का विकास होगा।

कुल मिलाकर ऐसी योजनाओं से देश के पिछड़े एवं शोषित वर्ग का पुनरुत्थान होगा तथा उन्हें समाज की मुख्यधारा से जोड़ने में सफलता मिलेगी। जिससे देश का चहुमुखी विकास संभव हो सकेगा।

अन्य योजनायें पढ़िए हिंदी में :

 

Comments

comments

Leave a Reply