प्रधानमंत्री रिसर्च फेलोशिप योजना (PM Research Fellowship Scheme) पढ़िए हिंदी में 

PM Research Fellowship Scheme,chhatrvritti ke liye chhatro ka chyan kiye jane wale sansthano ke naam,Pradhanmantri Research Fellowship yojana hindi mein padhiye,Pradhanmantri Research Fellowship Yojana Ka Uddeshy,Pradhanmantri Research Fellowship Yojana,PM Research Fellowship Scheme 2018,

science and technology pic

प्रधानमंत्री रिसर्च फेलोशिप योजना (PM Research Fellowship Scheme)पढ़िए हिंदी में 

2018-19 शिक्षा सत्र से विज्ञान और तकनिकी के छात्रों के लिए लागू होगा, देश का सबसे बड़ा रिसर्च फ़ेलोशिप कार्यक्रम। इस योजना की घोषणा 1 फरवरी 2018 के  बजट में वित्त मंत्री द्वारा की गई है। इस योजना के तहत देश के शीर्ष विज्ञान और तकनिकी अनुसंधान संसथान IITs/ NITs/ IISC/ IISER/ IIITs के  B.Tec ,M.tec और M.sc के विज्ञान और तकनिकी की शिक्षा के 1000 मेधावी छात्रों को छात्रवृत्ति दी जाएगी। तथा इन चुने हुए छात्रों को PHD के लिए देश के बड़े विज्ञान और तकनिकी अनुसन्धान संस्थान में सीधे प्रवेश दिया जायेगा।

छात्रवृत्ति के लिए छात्रों का चुनाव किये जाने वाले संस्थानों के नाम :

  • IIT- इंडियन इंस्टिट्यूट आफ टेक्नोलॉजी
  • NIT- नेशनल इंस्टिट्यूट आफ टेक्नोलॉजी
  • IISC- इंडियन इंस्टिट्यूट आफ साइंस
  • IISER- इंडियन इंस्टिट्यूट आफ साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च
  • IIIT-इंडियन इंस्टिट्यूट आफ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी

प्रधानमंत्री रिसर्च फ़ेलोशिप योजना का उद्देश्य (Objective OF PM’s Research Fellowship Scheme):

  • इस योजना का लक्ष्य अपने देश की प्रतिभा का देश की प्रगति में उपयोग करने पर बल देना तथा प्रतिभाशाली छात्रों के विदेश पलायन को रोकना है।
  • देश के उच्च विज्ञान और तकनिकी अनुसधान संस्थाओं के प्रतिभाशाली छात्रों को अनुसन्धान, नई सोच तथा वैज्ञानिक विचारों के लिए प्रोत्साहित करना है ।

प्रधानमंत्री रिसर्च फ़ेलोशिप योजना की विशेषताएं (Features Of PM’s Research Fellowship Scheme):

  • इस योजना का लाभ देश के उच्च विज्ञान और  तकनीकी अनुसन्धान IIT,NIT,IISC,IISER,IIIT के 3000 मेधावी छात्रों को प्राप्त होगी।
  • इस योजना के मानदंडों के अनुसार छात्रवृत्ति के लिए न्यूनतम अंक 8.5 सीजीपीए (cumulative grade point average) होना अनिवार्य है।
  • प्रत्येक वर्ष 1000 छात्रों को PHD (Doctor OF Philosophy) के लिए छात्रवृत्ति दिए जाने का प्रावधान है।
  • इंटरनेशनल कांफ्रेंस और सेमिनार में रिसर्च पेपर्स सबमिट करने के लिए चयनित छात्रों को खर्च के तौर पर प्रति वर्ष पांच वर्षों तक 2 लाख रूपए की राशि अनुदान के रूप में दिए जाने का प्रावधान है।
  • इस योजना के तहत चयनित छात्रों को प्रथम दो वर्षों तक 70,000 रूपए ,तीसरे वर्ष 75,000 रूपए तथा चौथे एवं पांचवें वर्ष 80,000 रूपए प्रति महीने दिए जाने का प्रवधान किया गया है।

प्रधानमंत्री की अन्य योजनाओं के विषय में पढ़िए विस्तृत जानकारी हिंदी में :

 

Comments

comments

Leave a Reply