Fame India Scheme 2015 फेम इंडिया योजना 2015

FAME INDIA SCHEME,, Fame India scheme 2015, fame india scheme ka uddeshy,fame india scheme ke labh, fame india scheme ka kriyanvayan, fame india scheme kya hai

फेम इंडिया स्कीम image

Fame India Scheme 2015 फेम इंडिया योजना 2015

केंद्र की मोदी सरकार द्वारा देश में बढ़ रहे प्रदूषण पर काबू पाने के लिए वर्ष 2015 में फेम इंडिया स्कीम के तहत फास्टर एडॉप्शन एंड मैन्युफैक्चरिंग आफ हाइब्रिड एंड इलेक्ट्रिक व्हेकिल्स इन इंडिया की शुरुआत किया गया था। इस योजना के अनुसार हाइब्रिड दो पहिया वाहनों की खरीद पर रूपए 29 हज़ार और इलेक्ट्रिक कारों की खरीद पर रूपए 1.38 लाख की सब्सिडी दिए जाने का प्रस्ताव किया गया है। यह योजना राष्ट्रिय इलेक्ट्रिक मोबिलिटी मिशन का एक हिस्सा है। इस योजना  को दो चरणों में पूरा किये जाने प्रस्ताव रखा गया है। आइये जाने इस लेख के माध्यम से फेम इंडिया योजना की अब तक की पूरी जानकारी।

फेम इंडिया योजना का उद्देश्य (Fame India Scheme ka Uddeshy):

देश में खासतौर से महानगरों में प्रदूषण के अन्य कारणों में से मुख्य कारण डीजल एवं पेट्रोल चालित गाड़ियों से फैलने वाला धुआं है। इस भीषण प्रदूषण से वातावरण को सुरक्षित रखने के उद्देश्य से केंद्र सरकार द्वारा वर्ष 2015 में फेम इंडिया योजना की शुरुआत की गई थी। इस योजना का पहले चरण वर्ष 2015-2018 के अंतर्गत इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाने और देश में मेक इन इंडिया के तर्ज पर इलेक्ट्रिक कारों एवं दो पहिया हाइब्रिड वाहनों के निर्माण को प्रोत्साहन देने की योजना बनाई गई थी। इस योजना के सफलतापूर्वक क्रियान्वयन से ये अनुमान लगाया जा रहा है कि प्रदूषण पर नियंत्रण के साथ हीं वार्षिक 60 हज़ार करोड़ रूपए के ईंधन की बचत होगी।

फेम इंडिया योजना का क्रियान्वयन (Fame India Scheme ka kriyanvayan):

इस योजना का पहला चरण वर्ष 2015 से 2018 के अंतर्गत इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाने और देश में मेक इन इंडिया के तर्ज पर इलेक्ट्रिक कारों एवं दो पहिया हाइब्रिड वाहनों के निर्माण को प्रोत्साहन देने की योजना बनाई गई थी। इस सत्र के अंतर्गत फेम इंडिया योजना के लिए रूपए 795 करोड़ रूपए का समर्थन मिल चुका है। इस योजना का दूसरा चरण आगामी पांच सालों तक चलने के प्रस्ताव को निर्धारित किया गया है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार दूूसरे चरण के अंतर्गत सार्वजनिक परिवहन एवं वाणिज्जय उपयोग के लिए नवीन  उर्जा से चलने वाले वाहनों तथा तीव्र गति से चलने वाले दो पहिया वाहनों पर केन्द्रित होगा। इस चरण के लिए केन्द्रीय मंत्रिमंडल द्वारा 9,381 करोड़ रूपए   प्रस्ताव पास किया जा सकता है।

फेम इंडिया योजना से लाभ (Fame India Yojana se labh):

  • इस योजना के सफलतापूर्वक क्रियान्वयन से वाहनों के धुएं से होने वाले प्रदूषण पर नियंत्रण पाया जा सकेगा।
  • एक अनुमान के अनुसार 60 हज़ार करोड़ ईंधन की बचत हो सकेगी।
  • सरकार  इलेक्ट्रिक चालित वाहनों को प्रोत्साहन देने के लिए इलेक्ट्रिक कारों की खरीद पर 1.38 लाख रूपए और दो पहिया हाइब्रिड वाहनों के खरीद पर 29 हज़ार रूपए की प्रोत्साहन राशि दिए जाने का प्रस्ताव पारित करेगी।
  • फेम इंडिया योजना के अंतर्गत वर्ष 2022 तक देश में 60-70 लाख हाइब्रिड दो पहिया वाहन और एलेत्रिक कार को सड़क पर चलाने की योजना है।

अन्य योजनायें पढ़िए हिंदी में :

Comments

comments

Leave a Reply