Pradanmantri Fasal Surksha Bima Yojna | प्रधानमंत्री फसल सुरक्षा बीमा योजना की पूरी जानकारी जाने हिंदी में |

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (Pradhanmantri Fasal Bima Yojna) के बारे में जानिए – फसल बीमा  योजना क्या हे ? कैसे इस योजना का लाभ ले जब आपकी फसल ख़राब होती हे ? फसल का मुवाबजा कैसे प्राप्त करे ? बिना KCC वाले लोग भी अपनी फसल का बीम करावा सकते हे वो भी बहुत कम प्रीमियम पर , पढ़िए पूरी पोस्ट को निचे डिटेल में!

(Pradhanmantri Fasal Bima Yojna )क्या है प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना जाने ?

आज किसानो की हालत और किसानो की बिगड़ती फसल और प्रकृति की अनिश्चितता को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने 13 जनवरी 2016 को प्रधानमंत्री फसल बीमा  योजना (Pradhanmantri Fasal Bima Yojna ) को मंजूरी दे दी। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से जो प्रकृति के कारण जो किसानो की फसलों को नुकसान होता हे उसे (Pradhanmantri Fasal Bima Yojna ) प्रधानमंत्री फसल बिमा योजना के तहत जो किसानो का बिमा अपनी नजदीकी सोसायटियो में जमा करवाया जाता है वह बिमा किसानो को फसल आपदा के समय वितरण किया जाता हे जिससे किसानो की काफी हद तक सहायता की जा सकती हे जिससे किसानो को रहत मिलती हे – ऐसी सहायता के लिए प्रधानमंत्री फसल बिमा योजना का आरम्भ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने किया था ।ओर इस योजना के लिये प्रधानमंत्री जी ने 8,800 करोड़ रुपयों को खर्च करने का प्रावधान दिया गया।
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत,सभी किसानों को बीमा कम्पनियों द्वारा निश्चित, खरीफ की फसल के लिये 2% प्रीमियम और रबी की फसल के लिये 1.5% प्रीमियम का भुगतान करने के निर्देश दिए गए थे ।

इसमें प्राकृतिक आपदाओं के कारण खराब हुई फसल के खिलाफ किसानों द्वारा भुगतान की जाने वाली बीमा की किस्तों को बहुत ही कम रखा गया है, जिसको प्रत्येक स्तर का किसान चाहे वः गरीब हो या अमिर आसानी से भुगतान कर सकता हे। यह योजना न केवल खरीफ और रबी की फसलों को बल्कि वाणिज्यिक और बागवानी फसलों के लिए भी सुरक्षा प्रदान करती है, वार्षिक वाणिज्यिक और बागवानी फसलों के लिये किसानों को 5% प्रीमियम (किस्त) का भुगतान करना होगा।

Pradhanmantri-fasal-bima-yojna-premium

 Read More :  मुख्यमंत्री युवा स्व-रोजगार योजना के बारे में जानें | Mukhyamantri Yuva Swarozgar Yojana In Hindi

(PradhanmantriFasalBimaSurkshaYojna ) प्रधानमंत्री फसल बिमा सुरक्षा योजना के मुख्य तथ्य –

  • इस योजना में किसी एक व्यक्ति की फसल ख़राब होने पर मुवावजा नहीं दिया जाएगा यह योजना हल्का नम्बर से दी जाती है|
  •  पहले इस योजना में ५०% फसल ख़राब हो जाने पर ही फसल बिमा दिया जाता था परन्तु अब नई फसल बिमा प्रणाली में ३० % फसल खराब हो जाने पर भी किसानो को यह रहत प्रदान की जाती हे|
  • इस योजना में अगर आपने किसी प्रकार का सरकार से लोन लिया है या आपने KCC ले रखा हे तो फसल बिमा सुरक्षा आपके खाते से ऑटोमेटिकली काट लिया जाएगा और यह आपको अगर किसी प्राकृतिक आपदा के कारन आपकी फसल बर्बाद होती हे तो आपको मिल जाएगा |
  •  प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की (PradhanmantriFasalBimaSurksha) भुगतान की जाने वाली किस्तो ( प्रीमियम ) की दरों को किसानों की सुविधा के लिये बहुत कम रखा गया है ताकि सभी स्तर के किसानो को आसानी से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ ले सकें।
  • प्रधानमंत्री फसल बिमा योजना के अन्तर्गत उन सभी प्रकार की फसलों को शामिल किया हे जो किसानो के दुवारा बोई जाती हे इसमें (रबी, खरीफ, वाणिज्यिक और बागवानी की फसलो ) को शामिल किया गया है। खरीफ (धान या चावल, मक्का, ज्वार, बाजरा, गन्ना आदि) की फसलों के लिये 2% प्रीमियम का भुगतान किया जायेगा। रबी (गेंहूँ, जौ, चना, मसूर, सरसों आदि) की फसल के लिये 1.5% प्रीमियम का भुगतान किया जायेगा। वार्षिक वाणिज्यिक और बागवानी फसलों बीमा के लिये 5% प्रीमियम का प्रावधान इस योजना के अंतर्गत किया गया हे।
  • सरकारी सब्सिडी पर कोई ऊपरी सीमा नहीं है। यदि बचा हुआ प्रीमियम 90% होता है तो ये सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।तथा बचा हुआ शेष प्रीमियम बीमा कम्पनियों को सरकार द्वारा दिया जायेगा। यह प्रीमियम राज्य तथा केन्द्रीय सरकार में बराबर-बराबर बाँटा जायेगा।
  • प्रधानमंत्री फसल बिमा सुरक्षा योजना राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना (N .A. I. S .) और संशोधित राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना (एम.एन.ए.आई.एस.) का स्थान लेती है।
    इसकी प्रीमियम दर एन.ए.आई.एस. और एम.एन.ए.आई.एस. दोनों योजनाओं से बहुत कम है साथ ही इन दोनों योजनाओं की तुलना में पूरी बीमा राशि को कवर करती है।
  • इससे पहले की योजनाओं में प्रीमियम दर को ढकने का प्रावधान था जिसके परिणामस्वरुप किसानों के लिये भुगतान के कम दावे पेश किये जाते थे। ये कैपिंग सरकारी सब्सिडी प्रीमियम के खर्च को सीमित करने के लिये थी, जिसे अब हटा दिया गया है और किसान को बिना किसी कमी के दावा की गयी राशी के खिलाफ पूरा दावा मिल जायेगा।
  • प्रधानमंत्री फसल योजना के अन्तर्गत तकनीकी का अनिवार्य प्रयोग किया जायेगा, जिससे किसान सिर्फ मोबाईल के माध्यम से अपनी फसल के नुकसान के बारें में तुरंत आंकलन कर सकता है।
  • प्रधानमंत्री फसल योजना के अन्तर्गत आने वाले 3 सालों के अन्तर्गत सरकार द्वारा 8,800 करोड़ खर्च करने के साथ ही 50% किसानों को कवर करने का लक्ष्य रखा गया है।
  • मनुष्य द्वारा निर्मित आपदाओं जैसे; आग लगना, चोरी होना, सेंध लगना आदि को इस योजना के अन्तर्गत शामिल नहीं किया जाता है।
  • प्रीमियम की दरों में एकरुपता लाने के लिये, भारत में सभी जिलों को समूहों में दीर्घकालीन आधार पर बांट दिया जायेगा।
  • ये नयी फसल बीमा योजना ‘एक राष्ट्र एक योजना’ विषय पर आधारित है। ये पुरानी योजनाओं की सभी अच्छाईयों को धारण करते हुये उन योजनाओं की कमियों और बुराईयों को दूर करता है।2016_8$largeimg211_Aug_2016_072549900
और पढ़े: Bhindi ki unnat kheti kese kare jane hindi me भिंडी की उन्नत खेती कैसे करे जाने हिंदी में।

प्रधानमंत्री फसल बिमा योजना (Pradhanmantri Fasal Bima Surksha Yojna ) में फॉर्म भरने के लिए आपको क्या क्या काजगात (Documents) चाहिए

  • जिसके नाम से आप आवेदन कर रहे हे उस आवेदनकर्ता का पासपोर्ट साइज़ का एक फोटो |
  • किसान का वोटर कार्ड (पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट, आधार कार्ड) यह सभी आईडीई प्रूफ होना अनिवार्य है |
  • अगर खेत आपका स्वयं का है तो खेत का खसरा नंबर / खाता नंबर बही की फोटोकॉपी जरूर साथ में लगाए
  • आपने अपने खेत में क्या फसल लगाई हे, इसका प्रूफ। प्रूफ के तौर पर किसान पटवारी, सरपंच, प्रधान जैसे जिम्मेदार पदों पर बैठे लोगों से एक पत्र लिखवाकर अपने नजदीकी तहसील कार्यालय में जमा कर सकते हैं। हर राज्य में ये व्यवस्था अलग अलग है।आप अपने नजदीकी बैंक में जाकर इस बारे में ज्यादा जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
  • अगर आपने खेत बटाई या फिर किराए पर लेकर उसमे फसल बोई गई है| ,तो खेत के असली मालिक के साथ आपने जो करार पेपर जारी किया हे उसकी फोटोकॉपी साथ जरूर लें। इसमें खेत का खरसा नंबर / खाता नंबर जरूर साफ तौर पर लिखा होना चाहिए।
  • अगर आप चाहते हैं कि फसल को नुकसान होने की स्थिति में पैसा सीधे आपके बैंक खाते में जाए, तो एक कैंसिल्ड चैक (Cancelled Cheque) भी लगाना जरूबही री होगा।

(Pradhanmantri Fasal Bima Surksha Yojna) की कुछ अन्य खास बातें जो आपको जानना जरुरी हे |

  • आप अपनी फसल बोने के अधिकतम 10 दिनों के अंदर ही आपको प्रधानमंत्री बीमा फसल योजना (pradhan mantra fasal bima yojana) का फॉर्म भरकर जमा करना भी जरूरी हैं।
  • आपकी फसल कटाई से लेकर उसके अगले 14 दिनों तक अगर आपकी फसल को कोई प्राकृतिक आपदा के कारण नुकसान होता है, तो भी आप इस बीमा योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  • (Pradhanmantri Fasal Surksha Bima Yojna) में आपको फसल खराब होने पर तभी बीमा की रकम मिल सकेगी जब आपकी फसल किसी भी प्राकृतिक आपदा के ही कारण खराब हुई हो। जैसे औला, जलभराव, बाढ़, तूफान, तूफानी बरसात, जमीन धंसना इत्यादि अगर किसी कारण वश आपकी फसल आगजनी की चपेट में आती हे तो उसके दौरान आपको इस योजना का लाभ नहीं मि सकेगा ।
  • अगर आप कपास की फसल का बीमा करवाने के लिए किसानों को प्रति एकड़ 62 रुपये प्रीमियम के रूप में जमा करवानी होगी। जबकि 505.86 रुपये के हिसाब से धान की फसल के लिए, रूपए 222.58 रुपये के हिसाब से बाजरा के लिए तथा मक्का की फसल के लिए 202.34 रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से प्रीमियम जमा करवाना होगा।

 

kisan bima yojna

Friends यदि आपको ये पोस्ट से संबंधित ओर कोई जानकारी चाहिये तो प्लीज नीचे Comment कीजिये या आप मुझे mail कर सकते है – anuparmar92@gmail.com

इन योजनओं के बार में पूरी जानकारी प्राप्त करे –

  1. मुख्यमंत्री युवा स्व-रोजगार योजना के बारे में जानें
  2. मुख्यमंत्री युवा स्व-रोजगार योजना के बारे में जानें
  3. प्रधानमंत्री फसल बिमा सुरक्षा बीमा योजना
  4. अटल पेंशन योजना
  5. प्रधानमंत्री सुरक्षा बिमा योजना के बारे में जाने |
  6. प्रधानमंत्री उज्जवल योजना के बारे में जाने
  7. प्रधानमंत्री कोसल विकाश विकाश योजना के बारे में जाने
  8. प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना के बारे में जाने |
  9. प्रधानमंत्री जन धन योजना के बारे में जाने
  10. प्रधानमंत्री मातृत्व योजना के बारे में जाने |
  11. मुद्रा योजना क्या हे जाने |
  12. प्रधानमंत्री आवास योजना क्या है जाने |
  13. प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना के बारे में जाने |

 

Comments

comments

Leave a Reply